• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Janjgir
  • Murder Of Bemetara Family Court Employee, Girl's Body Found In The Forest Of Palgarh Ghat Of Raigarh, The Girl Was A Resident Of Janjgir

प्रेमिका के हाथ की नस काट घोंट दिया गला:कोर्ट कर्मचारी से किया दुष्कर्म, शादी का दबाव बनाया तो हत्या कर दी

जांजगीर-चांपा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
आरोपी गिरफ्तार।

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा में कोर्ट की महिला कर्मचारी की हत्या हो गई। बेमेतरा कुटुंब न्यायालय में प्यून के पद पर काम करने वाली कर्मचारी 14 अगस्त से ही लापता थी। उसकी लाश 14 अगस्त को रायगढ़ के खरसिया थाना क्षेत्र के पलगढ़ घाट के जंगल में बरामद की गई थी। जांच में पता चला है कि युवती को उसके प्रेमी ने ही बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। लव, सेक्स और धोखे की इस कहानी का खुलासा पकड़े जाने के बाद खुद आरोपी ने ही किया।

दरअसल युवती के परिजनों ने सुखदा गांव के रहने वाले शंकर लाल केवट (24 वर्ष) पर शक जताया था। इसके बाद पुलिस ने साइबर सेल की मदद लेकर जांच शुरू की। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगालने शुरू किए। सीसीटीवी फुटेज में रायगढ़ जिले के खरसिया के ग्राम पलगढ़ में युवती एक लड़के के साथ जाती हुई दिखाई दी। ये बात 14 अगस्त सुबह 11 बजे की है। उनकी स्कूटी पलगढ़ घाटी की ओर जाती नजर आई थी। लगभग 12 बजे स्कूटी पर युवक अकेला आता हुआ नजर आया था।

पुलिस ने हिरासत में लेकर शुरू की पूछताछ, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

सीसीटीवी फुटेज और उनकी लोकेशन से ये साफ हो गया कि लापता युवती शंकर लाल केवट के साथ गई थी और वापस नहीं लौटी। इन सबूतों के आधार पर जांजगीर-चांपा की डभरा पुलिस ने शंकर लाल को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ शुरू की। आरोपी पुलिस की कड़ाई से टूट गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया। डभरा एसडीओपी भवानी शंकर खुंटिया ने बताया कि आरोपी ने कत्ल की पूरी दास्तां बताई। उसने कहा कि दोनों के बीच प्रेम संबंध थे। 14 अगस्त को बाढ़ के कारण कई जगह रास्ते बंद थे। ऐसे में वो बेमेतरा जाने के लिए रास्ता बताने की बात कहकर युवती को भदरी चौक फगुरम बुलाया था। इसके बाद वो अपनी बाइक से और लड़की अपनी स्कूटी से खरसिया रेलवे स्टेशन तक गए।

आरोपी ने अपना जुर्म कबूला

आरोपी शंकर लाल ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि यहां उसने अपनी बाइक रेलवे स्टेशन में ही रख दी और लड़की को उसकी स्कूटी पर बैठाकर पलगढ़ जंगल ले गया। आरोपी ने कहा कि यहां उसने युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद युवती उस पर शादी के लिए दबाव बनाने लगी, जिस पर विवाद हो गया। तब तैश में आकर उसने युवती की कलाई को ब्लेड से काट दिया और फिर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। जुर्म कबूल करने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।​​​​​​​

पिता ने दर्ज कराया था मामला

पुलिस ने बताया कि 15 अगस्त को मृतका के पिता ने जांजगीर-चांपा जिले के डभरा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मृतका के पिता ने बताया था कि उनकी बेटी 14 अगस्त की सुबह 9 बजे अपने घर से बेमेतरा में दफ्तर जाने के लिए स्कूटी से निकली थी। सुबह 11 बजे से उसका मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा था। थोड़ी देर बाद फिर उन्होंने कॉल किया, लेकिन फिर भी मोबाइल बंद ही था। इससे वे परेशान हो गए। इसके बाद 14 अगस्त की रात में भी जब बेटी घर वापस नहीं लौटी, तब जाकर उन्होंने अगली सुबह थाने में केस दर्ज कराया।

पिता की रिपोर्ट पर ही डबरा थाने में गुम इंसान का केस दर्ज कर जांच शुरू की गई। लापता युवती के परिजनों ने शंकर लाल केवट को लेकर कहा था कि उनकी बेटी की बात अक्सर इस लड़के से होती थी। इसके बाद जांजगीर की डभरा पुलिस साइबर सेल की मदद से आरोपी को पकड़ने में सफलता हासिल कर सकी।