पटाखा रखने वाले गोदाम मालिक को नहीं बनाया आरोपी:पुलिस ने उसे पकड़ा जो पटाखा लेकर आया, यह भी पता नहीं लगा सकी किसके नाम से था पटाखा

जांजगीर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोदाम से जब्त पटाखा। - Dainik Bhaskar
गोदाम से जब्त पटाखा।

दिवाली से पहले अवैध पटाखा बेचने वालों ने भंडारण कर रखा है। ऐसे व्यापारी भंडारण नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। वे बिना अनुमति बड़ी मात्रा में पटाखा रख रहे हैं। चांपा पुलिस ने एक ऐसे ही व्यापारी के कर्मचारी को पकड़ा है, जो पटाखा गोदाम के पास था। सीएम ने कहा है कि अपराध की जड़ तक जाएं लेकिन चांपा पुलिस उससे यह भी पता नहीं लगा सकी कि 591 किलो विस्फोटक आखिर किस व्यापारी के नाम से लेकर आया था। दीपावली से पहले अवैध पटाखा पर चांपा पुलिस ने कार्रवाई की है।

पुलिस ने 591 किलोग्राम पटाखा बरामद किया है। जब्त पटाखे की कीमत 5 लाख 30 हजार 800 रुपए बताई गई है। पुलिस ने अनुसार बुधवार को जिवेश ट्रांसपोर्ट के चांपा नगर के गोदाम में बड़ी मात्रा में विस्फोटक होने की सूचना मिली। विवेचना अधिकारी बीएस लकड़ा के अनुसार यह गोदाम मस्तुरी के बृजेश मौर्य के नाम पर है। सूचना पर पुलिस ने यहां दबिश देकर वहां से 20 अलग अलग कार्टून में 591 किलो पटाखा जब्त किया।

सख्ती बरतते तो पटाखा के व्यापारी तक पहुंचते
पुलिस ने कर्मचारी कृष्ण कुमार पाटले को पकड़ा। उससे अवैध पटाखे से संबंधित खरीदी बिक्री की जानकारी ली। पटाखों से संबधित दस्तावेज मांगे गए। कृष्ण कुमार पाटले पटाखा व कागजात के संबंध में किसी प्रकार की जानकारी नहीं दे सका, पुलिस ने मुख्य व्यापारी तक पहुंचने की कोशिश ही नहीं की और कृष्ण कुमार पाटले को ही आरोपी बना दिया। उसे मुचलका जमानत पर छोड़ दिया गया। पुलिस यदि सख्ती बरतती तो पटाखा के मुख्य व्यापारी तक पहुंचा जा सकता था।

बिल उसके पास नहीं था
गोदाम मस्तूरी के बृजेश मौर्य का है, वहां पर कृष्ण कुमार पटाखा लेकर आया था। उससे पूछताछ पर जानकारी नहीं दे सका। बिल भी उसके पास नहीं था, जिससे किसके नाम से पटाखा आया है। -वीएस लकड़ा, एसआई, चांपा

खबरें और भी हैं...