चोरी का मामली:असेम्बल करने झारखंड से आए कामगार साइकिल पार्ट्स चोरी करके हुए फरार

जांजगीरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरस्वती साइकिल योजना के पामगढ़ ब्लाक की छात्राओं को बांटने के लिए शासन से मिली 840 साइकिल के पार्ट्स लुधियाना पंजाब से पहुंचे पर फिट करने से पहले कामगारों ने आधे से अधिक साइकिल के पार्ट्स चोरी कर लिए और उसे अपने साथ लेकर भाग गए, इधर जानकारी मिलने पर कंपनी के कर्मचारी ने इसकी रिपोर्ट थाने में की है। बहरहाल पुलिस मामले की जांच में कर रही है। मामला शासकीय प्राथमिक स्कूल पामगढ़ का है।

दरअसल सरस्वती साइकिल योजना के तहत नौवीं की छात्राओं को नि:शुल्क साइकिल बांटी जाती है। रायपुर की एक कंपनी को जिले में साइकिल वितरण का सौंपा गया है। पुलिस के अनुसार ठेका कंपनी के साइकिल मिस्त्री इंचार्ज भूपेंद्र सिंह के पास जिला खूंटी झारखंड निवासी सद्दाम हुसैन आया और काम मांगने लगा। भूपेंद्र सिंह ने सद्दाम हुसैन पर विश्वास कर उसे साइकिल फिटिंग करने का काम दिया।

पामगढ़ ब्लाक में योजना में साइकिल वितरण के लिए कंपनी द्वारा पंजाब राज्य के लुधियाना से 1 मई को 840 साइकिल के अलग-अलग पार्ट्स को ट्रक से पामगढ़ के शासकीय प्राथमिक स्कूल में पहुंचाया गया। यहां ठेकेदार कर्मचारी सद्दाम हुसैन अपने सहयोगियों के साथ पहुंचा और सामानों को ट्रक से उतरवाकर उसे स्कूल में स्टोर में रख दिया, लेकिन उसके दूसरे दिन सद्दाम और उसके साथ आए अन्य 7 लोगों ने असेम्बल के लिए रखे साइकिलों के पार्ट्स बाथम एक्सल, चिपटा, ट्यूब सहित अन्य आधे से अधिक साइकिलों के सामानों को बिना बताए अपने साथ ले गए और स्कूल के दरवाजे में ताला लगाकर चले गए। 5 मई की रात साइकिल मिस्त्री इंचार्ज भूपेंद्र सिंह स्कूल पहुंचे, लेकिन स्कूल के गेट में ताले लगा दिए। उन्होंने साइकिल मिस्त्री सद्दाम हुसैन से मोबाइल पर कॉल किया, लेकिन उसका मोबाइल बंद मिला।

खबरें और भी हैं...