लीची तोड़ने पर बच्चों को पीटा:मांगा एक लीची एक हजार रुपए जुर्माना

जशपुरनगर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

फरसाबहार जनपद के सिंगीबहार के बागान से बच्चों के लीची तोड़ने को लेकर जमकर बवाल हुआ । सिंगीबहार से लगे ओडिशा के लुलकीडीह के 8 बच्चे सिंगीबहार गांव के परमेश्वर साहू के लीची बागान में घुस गए और लीची तोड़ने लगे। बागान के मालिक को लीची तोड़ने की जानकारी मिलते ही तो बागान मालिक परमेश्वर साहू वहां पहुंचा और बागान के अंदर घुसे बच्चो को पकड़कर पीटने लगा आैर उनकी साइकिलें और मोबाइल को जब्तकर सभी बच्चों को अपने घर में बैठा लिया।

बच्चों के परिजन को जब इस बात की जानकारी मिली तो वे वहां पहुंचे और बच्चों को छोड़ने की अपील की, लेकिन वह नहीं माना और कठिन शर्त रख दी। शर्त सुनकर बच्चों के परिजन भी चौंक गए। बागान मालिक ने बागान में बच्चों द्वारा तोड़ी गई लीची की गणना की और अनुमान लगाया कि बच्चों ने बागान से 40 लीची तोड़ी है। इस तरह 40 लीची के एवज में उसने 40 हजार रुपए की मांग की। उसकी शर्त को सुनकर बच्चों के परिजन के होश उड़ गए। प्रति लीची एक हजार जुर्माने को अधिक बताकर परिजन इस राशि को देने को तैयार नहीं हुए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बच्चों के परिजन 10 हजार तक देने को तैयार भी हो गए, लेकिन बागान मालिक प्रति लीची एक हजार की दर से 40 हजार की राशि 40 लीची के लिए लेने पर अड़ा रहा जिससे बातचीत से मसले का कोई समाधान नहीं मिला तो परिजन मामले की शिकायत लेकर तपकरा थाने पहुंच गए और बच्चो को बंद करके पीटने की बागान मालिक के खिलाफ शिकायत कर दी।

तभी इस मामले सिंगीबहार के सरपंच पति विनोद पैकरा ने हस्तक्षेप करके बच्चों को बागान मालिक के घर से अपने पास बुला लिया और बच्चों को उनके परिजन को सौंप दिया। बच्चों के परिजनों ने थाने में लिखित शिकायत की। मामला छोटे छोटे बच्चों से जुड़ा है, इसलिए पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इधर इस मामले में परमेश्वर साहू (बगान मालिक)से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि बच्चों ने उनके बागान के तकरीबन 10 पेड़ को नुकसान पहुंचाया है।

खबरें और भी हैं...