आंदोलन:जिला बनाने की मांग को हर वर्ग का मिलने लगा समर्थन

पत्थलगांव13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मांग के समर्थन में धरना प्रदर्शन करते शहरवासी। - Dainik Bhaskar
मांग के समर्थन में धरना प्रदर्शन करते शहरवासी।

शहर के लोगों की लंबे अर्से से की जाने वाली जिला बनाने की मांग अब रंग लाने लगी है। कुछ लोगों की मौजूदगी मे शुरू हुई मांग को अब हर वर्ग के लोगो का समर्थन मिलने लगा है। आज धरना स्थल में महाकुल समाज ने पहुंचकर अपना समर्थन दिया। महाकुल समाज के वरिष्ठों का कहना था कि क्षेत्र का विकास जिला बनने की मुहर लगने के बाद ही संभव हो सकेगा।

लंबी दूरी तय कर अपने कार्यों को कराने जाने मे होने वाली परेशानियों से अब क्षेत्रवासी तंग आ चुके है,जिसके कारण अब जिला बनाने की मांग हर कंठ से बाहर आने लगी है। दरअसल कुछ दिनों पहले यहां के युवाओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से जिला बनाने की मांग मुखर की थी।

एक सप्ताह पूर्व इंदिरा चौक के पास धरना स्थल चयनित कर विशाल पंडाल लगाया गया था। कुछ लोगों से शुरू हुआ यह आंदोलन अब धीरे-धीरे हजारों की संख्या में पहुंच गया है। धरना स्थल पर हर वर्ग के लोग पहुंचकर अपना समर्थन दे रहे हैं। अधिवक्ता संघ, मजदूर संघ, ऑटो चालक संघ के अलावा अनेक ग्रामीण जनप्रतिनिधियों ने भी धरना स्थल पर आकर अपना समर्थन दिया है।

शासन-प्रशासन तक पहुंचा रहे मांग
धरना स्थल के पंडाल में सुबह से ही युवक बैठकर शासन प्रशासन के कानों तक जिला बनाने की मांग रख रहे है,दो दिन पहले भी यहां के एसडीएम के हाथ मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया था,जिसमें सैकड़ों लोगों ने हस्ताक्षर कर जिला बनाने की मांग को जायज ठहराया।

यहां के युवक नीरज गुप्ता, जितेन्द्र गुप्ता, बाबर खान, दीपेश रोहिला, अविनाश राजपूत ने मांग को जायज ठहराते हुए शासन प्रशासन से जल्द से जल्द पूरा करने की बात कही। इन सभी युवकों का मानना था कि शहर को जिला बनने की सौगात मिलने के बाद लोगों को लंबी दूरी तयकर जिला पहुंचने की मुश्किलों से मुक्ति मिल सकेगी।

कई दशक पुरानी है जिला की मांग
जिला बनाने की मांग शहरवासियों के लिए नई नहीं है। पिछले तीन दशक से शहर को जिला बनाने की मांग लगातार उठ रही है। राजनीति से जुड़े लोग पक्ष विपक्ष की भूमिका निभाते हुए कई बार जिला बनाने की मांग कर चुके हैं।

लगभग पांच वर्ष पूर्व भाजपा के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी विधायक देने पर जिला बनाने की घोषणा की थी, परंतु अपनी घोषणाओं को किसी भी राजनीतिक दल के नेताओं ने पूरा नहीं किया, बल्कि घोषणा एवं आश्वासन के माध्यम से क्षेत्र के लोगों को गुमराह हमेशा करते रहे, परंतु अब जिला बनाने की मांग हर आम आदमी के कंठ से बाहर आ चुकी हैै।

खबरें और भी हैं...