रूबरू कार्यक्रम:वार्डों में पेयजल, सीवरेज, सफाई, अतिक्रमण सहित कई समस्याएं, जिम्मेदारों से मांगे जवाब

कवर्धा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कवर्धा में आम नागरिकों की समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाने के लिए दैनिक भास्कर के रूबरू कार्यक्रम (बात आपकी और आपके वार्ड की) का आगाज रविवार को हुआ। पहला कार्यक्रम वार्ड नंबर 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17 और 18 के लोगों के लिए संयुक्त रूप से भारत माता चौक स्थित वीर सावरकर भवन में हुआ।

रूबरू में जागरूक लोगों ने अपने-अपने वार्डों के अलावा दीगर समस्याएं भी बताईं। इसमें सीवरेज, पेयजल और सफाई के साथ ही पट्टा, राशन कार्ड व अतिक्रमण संबंधी समस्याएं रखीं। मंच पर उपस्थित नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा, वार्ड- 10 की पार्षद सुशीला धुर्वे, वार्ड- 11 के पार्षद जानकी कपिल जायसवाल, वार्ड- 12 के पार्षद पवन जायसवाल, वार्ड- 14 के पार्षद नरेन्द्र देवांगन, वार्ड- 16 के पार्षद अशोक सिंह, वार्ड- 17 के पार्षद उत्तम गोप, सीएमओ नरेश कुमार वर्मा और सब इंजीनियर एमएल कुर्रे ने लोगों की समस्याएं सुनीं और अपनी प्रतिक्रिया भी दी।

जानिए, लोगों के सवाल और उन पर जिम्मेदारों के जवाब

चंद्रप्रकाश चंद्रवंशी : शहर में कई परिवार ऐसे हैं, जिन्हें पट्‌टे के लिए अपात्र घोषित कर दिया गया है। प्रधानमंत्री आवास भी नहीं बन रहे हैं। पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हुआ। ठेकेदार को 3 बार एक्सटेंशन (समय वृद्धि) दे चुके हैं पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही? नपाध्यक्ष : पट्‌टे का काम नजूल का है। पात्र- अपात्र नजूल ही तय कर रही है। पालिका डाकिए की जिम्मेदारी निभा रहा है, जिनके पट्‌टे बने हैं, उन्हें बांट रहे हैं। पीएम आवास में जिस- जिस का पैसा आ रहा है, क्रम से भुगतान हो रहा है। पाइप लाइन का काम एक्सपर्ट कर रहे हैं। टेस्टिंग और इंटर कनेक्शन के काम हाे रहे हैं। गंदे पानी की कोई समस्या नहीं है।

श्रीकांत उपाध्याय : नंदी विहार कॉलोनी के पास हाईवे किनारे शराब दुकान खोला गया। कॉलोनी की महिलाओं के विरोध के बावजूद व्यक्ति विशेष को लाभ पहुंचाने नगर पालिका ने एनओसी दे दी? नपाध्यक्ष : नगरीय क्षेत्र में दुकान के लिए नगर पालिका से एनओसी जारी हुई है। सुप्रीम कोर्ट की जो गाइडलाइन है, उसे ध्यान में रखकर अनुमति दी है। व्यक्ति विशेष को लाभ पहुंचाने जैसी बात नहीं है। प्रशासन से बातचीत के बाद विरोध खत्म हो चुका है।

केशव जायसवाल : वार्ड- 17 में पुराना श्मशान घाट है, वहां तक पहुंचने के रास्ते पर अतिक्रमण होने से रास्ता बंद है। अब अटल उद्यान में शवों का अंतिम संस्कार हो रहा है। नपाध्यक्ष : अटल उद्यान का निर्माण ही गलत तरीके और गलत जगह पर हुआ है। अटल बिहारी वाजपेयी सम्मानीय हैं। पूर्ववर्ती सरकार में उनके नाम पर डूबान क्षेत्र में उद्यान बना दी गई थी। लैंड यूज के लिए प्रस्ताव भेजा है। स्वीकृत मिल जाती है, तो उस पर भी काम करा पाएंगे।

सड़क निर्माण की गुणवत्ता पर भी लोगों ने किए सवाल

राजमहल चौक से कचहरी पारा तक कांक्रीट सड़क बनाई गई है, जो उखड़ने लगी है। इस पर नपाध्यक्ष श्री शर्मा ने बताया कि सड़क की गुणवत्ता ठीक है। निर्माण के दौरान ही बारिश हुई थी, जिससे लेयर उखड़ा था। पेंचवर्क से इसे ठीक करा लेंगे। गीले कचरों से गार्बेज एंजाइम (सुधा संजीवनी) तैयार करने के फार्मूले पर काम बंद हो गया। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर स्कॉच गोल्ड अवार्ड से कवर्धा को मिला था। नपाध्यक्ष ने बताया कि इस फार्मूले का श्रेय श्रीकांत उपाध्याय को जाता है। कचरों के निष्पादन के अब नए-नए तरीके आ गए हैं। अब उन तरीकों काे अपनाया जा रहा है।

नपाध्यक्ष ऋषि शर्मा ने गिनाई अपनी उपलब्धियां

6 जनवरी 2020 को पीआईसी का गठन हुआ। शहर में गरीब परिवारों को सुख-दुख के कार्यक्रम कराने के लिए भवन की आवश्यकता थी। विभिन्न मोहल्ले में अलग-अलग समाज के लोग हैं, इसलिए अलग- अलग समाजों के लिए 12 सामाजिक भवन बनवाए हैं। अब भी 4-5 सामाजिक भवन और बनने हैं। सौंदर्यीकरण करा रहे हैं। अमृत सरोवर मिशन के तहत रेवाबंद तालाब को डेवलप करने 72 लाख रुपए का प्रस्ताव बना है।

खबरें और भी हैं...