मानसून अभी सुस्त:5 दिन से नहीं हुई बारिश कवर्धा जिले के 5 बांधों में 35% कम पानी

कवर्धा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरोदा बांध में अभी 65.91 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध है। बारिश न होने की स्थिति में परेशानी हो सकती है। - Dainik Bhaskar
सरोदा बांध में अभी 65.91 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध है। बारिश न होने की स्थिति में परेशानी हो सकती है।

कबीरधाम जिले में मानसून कमजोर पड़ गया है। मानसून आने के बाद 5 दिन से बारिश नहीं हुई है, जिसके चलते किसान पशोपेश में हैं। क्योंकि जिले के 5 मध्यम जलाशयों में भी 35 फीसदी तक पानी कम है। मानसून कमजोर रहा और बारिश कम हुई, तो बांध भर नहीं पाएंगे। इससे सिंचाई के लिए बांधों से पानी मिलने में दिक्कत होगी।

जिले में मानसून तय समय से 7 दिन देरी से यानी 19 जून को आया था। मानसून के पहले दिन 4 घंटे लगातार बारिश हुई, उसके बाद से बादल रूठ से गए हैं। 1 जून से अब तक जिले में सिर्फ 75.5 मिमी औसत बारिश हुई है, जो कि बीते 10 साल की औसत से 33 फीसदी तक कम है। भू- अभिलेख के आंकड़ों के मुताबिक बीते 10 साल में 1 से 24 जून तक 112 मिमी औसत बारिश दर्ज है। विपरीत इसके इस बार 75.5 मिमी औसत बारिश हुई है, जो कि 10 साल की औसत का 67 फीसदी है। यानी जिले में 33 फीसदी अभी तक कम बारिश हुई है।

यूं समझिए, बांधों में पानी का गणित
एक मिलियन यानी 10 लाख और एक क्यूबिक (घन) मीटर यानी 1 हजार लीटर होता है। सरोदा बांध की बात करें, तो यहां 19.98 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध है। इस बांध से कवर्धा शहर की करीब 55 हजार आबादी को रोज 80 लाख लीटर पेयजल सप्लाई किया जाता है। पूरे साल में लगभग 10 क्यूबिक मीटर पानी ही पेयजल के लिए देते हैं। अभी बांध में इतना पानी है, जिससे पेयजल के लिए किल्लत नहीं होगी।

बांधों में अभी 65.45% पानी उपलब्ध

जिले में 5 मध्यम जलाशय मौजूद हैं। इन बांधों की कुल जलभराव क्षमता 147.38 मिलियन क्यूबिक मीटर है। वर्तमान में इन बांधों में 96.47 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध है। जो कि कुल क्षमता का 65.45 फीसदी है। इसमें भी दो बांध ऐसे हैं, जहां पानी रिजर्व रखना पड़ता है। सरोदा बांध में कवर्धा शहर को पेयजल सप्लाई और बहेराखार बांध में मलाजखंड (मप्र) ताम्र परियोजना के लिए पानी रिजर्व रखना पड़ता है।

जिले के 5 बांधों में औसतन 65फीसदी पानी उपलब्ध

जिले के 5 जलाशयों में औसतन 65 फीसदी पानी उपलब्ध है। छिरपानी बांध में 81.66 फीसदी, सरोदा बांध में 65.91 फीसदी, सुतियापाट बांध में 62.36 फीसदी, कर्रानाला बैराज में 45.36 फीसदी, बहेराखार बांध में 44.06 फीसदी पानी उपलब्ध है। इन बांधों की कुल जलभराव क्षमता 147.38 मिलियन क्यूबिक मीटर है। वर्तमान में सभी 5 बांध मिलाकर 96.47 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी उपलब्ध है, जो कि कुल क्षमता का 65.45 फीसदी है।

आज ऐसा रहेगा मौसम
रायपुर के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एचपी चंद्रा बताते हैं कि एक चक्रवाती घेरा दक्षिण- पूर्व उत्तर प्रदेश के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। दूसरा उपरी गामी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा सक्रिय है। इसके असर से 25 जून को छग के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

खबरें और भी हैं...