नौतपा शुरू:पहले दिन 39 डिग्री रहा तापमान, लगातार दूसरे साल सामान्य से 2 डिग्री कम

पंडरिया/ कवर्धाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सूख चुकी हाफ नदी के बीच गड्‌ढे में बचे पानी में भोजन की तलाश करते हुए बगुले। - Dainik Bhaskar
सूख चुकी हाफ नदी के बीच गड्‌ढे में बचे पानी में भोजन की तलाश करते हुए बगुले।

बुधवार को दोपहर 2.50 बजे सूर्य देव रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर गए। इसके साथ ही नौतपा शुरू हो गया है, इसका प्रभाव 2 जून तक रहेगा। लेकिन कवर्धा में नौतपा के पहले दिन का तापमान सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस कम रहा।

पहले दिन 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज की गई, जबकि औसत 41 डिग्री है। यह लगातार दूसरा साल है, जब नौतपा के पहले दिन रोहिणी बेअसर रही। बीते दो साल से ऐसा हो रहा है कि नौतपा के पहले दिन तापमान 39 से 41 डिग्री ही रहा। जबकि सामान्य दिनों में पारा 43 डिग्री सेल्सियस था। जैसा कि 21 मई को महसूस हुआ था।

अधिकतम तापमान 43 डिग्री तक पहुंच गया था। हालांकि, उसके बाद प्री-मानसून गतिविधि भी देखने को मिली। इसके कारण तापमान में कमी आई है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें, तो बादलों के रास्ता बदलने से नौतपा के 1-2 दिन गर्मी बढ़ने की संभावना है। वहीं उत्तर से आ रही हवा के कारण रात का पारा 23- 24 डिग्री पर पहुंच गया है। हर साल मई के आखिर और जून के पहले हफ्ते में गर्मी ज्यादा पड़ती है।

जहां गड्‌ढे में पानी वहां भोजन तलाश रहे बगुले
गर्मी के कारण क्षेत्र में नदी- नाले सूख गए हैं। इससे जीव- जंतु प्रभावित है। जिले की सबसे बड़ी हाफ नदी भी लगभग सूख गई है। नदी में कुछेक जगह गड्‌ढे में पानी बचा हुआ है। वहां बगुलों का झुंड अपने लिए भोजन तलाश कर रहे हैं। अन्य जीव-जंतु भी नदी-नालों के सूखने से संकट में आ गए हैं। हाफ नदी के सूखने से करीब 200 गांवों में निस्तारी की समस्या भी आ गई है।

पूर्वानुमान: 6 जून तक आ सकता है मानसून
ऐसी संभावना है कि इस वर्ष दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल में 27 मई को प्रवेश करेगा। इसे देखते हुए मौसम विभाग का कहना है कि छत्तीसगढ़ में भी मानसून समय से 4 दिन पहले यानी 10 जून की बजाय 6 जून तक प्रवेश कर सकता है। मौसम विभाग का अनुमान है कि नौतपा इस वर्ष ज्यादा नहीं तपाएगा। लोगों के लिए थोड़ी राहत रहेगी।

आज ऐसा रहेगा मौसम
रायपुर के मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा बताते हैं कि ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा उत्तर झारखंड और उसके आसपास 3.1 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसके असर से 25 मई को प्रदेश के एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। लेकिन अधिकतम तापमान में वृद्धि का ट्रेंड बनने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...