आरोप:जपं भानुप्रतापपुर में फूट, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का किया आवेदन

भानुप्रतापपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अविश्वास प्रस्ताव लाने आवेदन सौंपने पहुंचे नाराज जनपद सदस्य। - Dainik Bhaskar
अविश्वास प्रस्ताव लाने आवेदन सौंपने पहुंचे नाराज जनपद सदस्य।

14 सदस्यों वाली जनपद पंचायत भानुप्रतापपुर में फूट पड़ गई है। यहां के 12 जनपद सदस्यों ने जनपद अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष दोनों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने आवेदन प्रशासन को दिया है। 12 जनपद सदस्यों के विरोध में आने से जनपद अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष की कुर्सी खिसकती नजर आ रही है।

अविश्वास प्रस्ताव के लिए नाराज जनपद सदस्यों ने आवेदन कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ दोनों को सौंपा है। अविश्वास प्रस्ताव के लिए प्रशासन को सौंपे ज्ञापन में जनपद अध्यक्ष बृजबती मरकाम और उपाध्यक्ष सूनाराम तेता पर आरोप लगाया गया है कि वे समीक्षा बैठक हर माह नियमित रूप से नहीं कराते हैं। नियमत: बैठक प्रति माह कराने का प्रावधान है लेकिन बहुत बोलने पर पांच-छह महीने में एकाध बार ही बैठक कराई जाती है।

जनपद सदस्यों ने स्वयं की उपेक्षा का भी दोनों पर आरोप लगाते कहा की जनपद पंचायत से संबंधित जो भी काम होते हैं हमें विश्वास में लेना तो दूर पूछा या बताया तक नहीं जाता। जनपद की बैठकों में भी अध्यक्ष उपाध्यक्ष दोनों ही चले जाते हैं। साथ ही कहा की हम अपने क्षेत्र में विकास कार्य के लिए बोलते-बोलते थक जाते हैं लेकिन हमारे क्षेत्र के कामों को नहीं कराया जाता।

जनपद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष केवल अपने ही क्षेत्र के काम कराते हैं। हमारे क्षेत्र में विकास कार्य स्वीकृत नहीं हो पाते जिसकी वजह से हम अपने क्षेत्र के मतदाताओं को जवाब नहीं दे पाते हैं। अध्यक्ष-उपाध्यक्ष द्वारा बिना प्रस्ताव पारित कराए अपनी मनमर्जी से काम कराए जाते हैं।

कांग्रेस समर्थित आठ सदस्य आए थे चुनकर

जनवरी 2020 में हुए पंचायत चुनाव में 14 सदस्यों वाली भानुप्रतापपुर जनपद पंचायत में कुल 8 सदस्य कांग्रेस समर्थित थे, जो चुकनकर आए। इसकी वजह से यहां अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों कांग्रेस समर्थित चुनकर आए थे। इसके अलावा यहां भाजपा समर्थित 5 व एक आप पार्टी समर्थित जनपद सदस्य ने चुनाव जीता था। आवेदन के बाद अब जल्द ही सभी के बयान और हस्ताक्षर का सत्यापन कराया जाएगा।

उपेक्षा से नाराज होने वाले सभी सदस्य हुए एकमत

लगातार उपेक्षा किए जाने से भाजपा व आप समर्थित 6 जनपद सदस्यों के अलावा कांग्रेस समर्थित 6 जनपद सदस्य एकजुट हो गए। सभी ने मिलकर दो दिनों पहले बैठक की थी। अध्यक्ष-उपाध्यक्ष दोनों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय लिया अौर गुरुवार को इसके लिए आवेदन सौंपा गया।

ये हैं अध्यक्ष उपाध्यक्ष से नाराज जनपद सदस्य

अविश्वास प्रस्ताव के लिए सौंपे आवेदन में जनपद सदस्य जीवराखन सलाम, अंजली ठाकुर, कुमीन बाई महार, निर्मला कावड़े, रामबाई गोटा, प्रभा दुग्गा, कमलेश निषाद, मनीषा ठाकुर, प्रतिमा यदु, इंद्रा बाई आरदे, थम्म श्री वैद्य तथा झाड़ूराम मंडावी के हस्ताक्षर हैं।

सभी को एक साथ लेकर चलते हैं: जनपद अध्यक्ष

जनपद अध्यक्ष बृजबती मरकाम ने कहा सभी जनपद सदस्यों को लेकर साथ लेकर चलते आए हैं। आज तक किसी ने नाराजगी जाहिर नहीं की है। अचानक उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया समझ से परे हैं। नाराज जनपद सदस्यों से बातचीत की जाएगी।

जनपद सदस्य क्यों नाराज हुए, पता नहीं

जनपद उपाध्यक्ष सूनाराम तेता ने कहा जनपद सदस्य क्यों नाराज हुए हैं इसकी जानकारी नहीं है। कभी जनपद सदस्यों ने किसी प्रकार की शिकायत भी नहीं की है। वे शिकायत करते तो उसका समाधान करते।

खबरें और भी हैं...