9 साल के मासूम पर भालुओं का हमला:बच्चे की आंख और चेहरे को नोंचा, रोने की आवाज आई तो पहुंचे परिजन; अस्पताल में भर्ती

कांकेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छ्त्तीसगढ़ के कांकेर जिले में भालुओं ने एक 9 साल के बच्चे पर हमला कर दिया है। बच्चे की एक आंख समेत चेहरे की मांस नोंच खाए। गंभीर हालत में बच्चे को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दिल दहला देने वाली ये घटना उस दौरान हुई जब बच्चा घर की बाड़ी में खेल रहा था,और अचानक उस पर झाड़ियों में छिपे भालुओं ने हमला कर दिया। मामला जिले के चारामा थाना क्षेत्र का है।

दरअसल, चारामा वन परिक्षेत्र अंतर्गत स्थित तारसगांव में भालुओं का आतंक लगातार देखने को मिल रहा है। बुधवार की सुबह इस गांव के एक घर के बाहर बाड़ी में 9 साल का बच्चा रौनक पोयाम खेल रहा था। इस दौरान बाड़ी के पास ही स्थित घनी झाड़ियों में एक मादा भालू समेत उसके दो शावक भी छिपे हुए थे। खेलते-खेलते बच्चा जैसे ही झाड़ियों के पास पहुंचा तो भालुओं ने उस पर हमला कर दिया। चेहरे और आंख को नोंच खाए।

आंख और मांस का कुछ हिस्सा।
आंख और मांस का कुछ हिस्सा।

बच्चे की रोने की आवाज सुनकर परिवार के सदस्य घर के बाहर निकले। उन्होंने फौरन भालुओं को जंगल की तरफ खदेड़ा। फिर घायल बच्चे को सीधे अस्पताल लेकर आए। साथ ही इस मामले की जानकारी चारामा वन परिक्षेत्र अधिकारी को दी गई। फिलहाल घायल बच्चे की स्थित अभी कैसी है यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। इधर, एक दिन पहले भालुओं ने बाइक सवार युवक पर भी हमला किया था। जिसमें एक युवक घायल हो गया था।

आतंक

शहर के संजय नगर, आदर्श नगर, ठेलकाबोड, राजापारा, टिकरापारा और रामनगर में भालू शाम होते ही आबादी वाले इलाकों में घुस जाते हैं। जिससे लोगों की जान का खतरा बना रहता है। लेकिन इसके बाद भी वन विभाग भालुओं को पकड़ने के लिए कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

खबरें और भी हैं...