गुहार:मुआवजा न मिलने से परेशान किसानों ने कहा-खातों से न काटें प्रीमियम की राशि

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर से मिलने पहुंचे फसल बीमा नहीं मिलने से परेशान किसान। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर से मिलने पहुंचे फसल बीमा नहीं मिलने से परेशान किसान।

भानुप्रतापपुर विकासखंड के ग्राम घोटिया में किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ नहीं मिल पाया है। परेशान किसान 22 जून को जिला मुख्यालय पहुंचे और कलेक्टर से मुलाकात करते कहा आखिर वे कब तक इस तरह भटकते रहेंगे। किसानों ने कहा यदि यही स्थिति रही तो वे अब अपने गांव में क्राफ्ट कटिंग का बहिष्कार करेंगे। साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा का प्रीमियम काटे जाने का विरोध करेंगे।

ग्राम घोटिया के किसानों ने कलेक्टर से मुलाकात करते कहा 2021 खरीफ सीजन में काफी कम बारिश के कारण 75 प्रतिशत फसल को नुकसान हुआ था। सभी किसानों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा कराया था लेकिन इसके बावजूद उन्हें नुकसान हुई फसल का मुआवजा नहीं दिया गया। गांव के 150 किसान हैं जिनकी फसल को नुकसान हुआ है।

किसानों ने कहा गांव के ग्राम सेवक, पटवारी ने क्राफ्ट कटिंग रिर्पोट भी बनाई जिसमे कम उत्पादन होना बताया गया है। इसके बावजूद उन्हें मुआवजा नहीं मिल पाया है। किसानों के अनुसार 2016 से प्रधानमंत्री फसल बीमा का प्रीमियम पटाते आ रहे हैं।

किसानों ने कहा वे मुआवजा के लिए आवेदन देते देते थक चुके हैं। इस वर्ष 1 मई को भानुप्रतापपुर एसडीएम, तहसीलदार को ज्ञापन दिया था। 14 मई को केंवटी जनचौपाल में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 3 जून को भानबेड़ा जनचौपाल में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा लेकिन अभी तक कोई पहल नहीं हुई है।

कलेक्टर ने किसानों से कहा प्रशासन द्वारा प्रक्रिया पुरी कर शासन को भेज दी गई है। किसानों को कृषि विभाग जाकर उपसंचालक से मुलाकात करने सलाह दी। किसानों ने कहा उन्हें मुआवजा नहीं मिला तो वे आगे से प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए प्रीमियम काटने नहीं देंगे। साथ ही क्राफ्ट कटिंग का भी बहिष्कार करेंगे।

किसान संतराम बघेल, बिरेंद्र टांडिया, शंकरलाल कोठारे, संतलाल बघेल, मदनलाल जैन, मेहर सिंह, भारत तारम, कपिलराम, भागबली, रणछोर, छतरसिंग, रामदास, लतखोर, रामसिंग, जवाहर लाल, शिवनाथ ने कहा क्राफ्ट कटिंग में फसल नुकसान होना बताया गया है इसके बाद भी मुआवजा नहीं मिला है।

खबरें और भी हैं...