पूर्व विधायक भोजराज नाग पुलिस हिरासत में:किसानों के साथ चक्काजाम कर रहे नेता को सुबह उठाया, 8 घंटे से थाने में बैठाया गया है

कांकेर6 महीने पहले
पूर्व विधायक भोजराज नाग को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के पखांजूर में दूसरे दिन भी किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। किसान सड़क जाम कर बैठे हुए हैं। इधर, अब पुलिस भी एक्शन पर आ गई है। रविवार की सुबह आंदोलन में शामिल पूर्व विधायक भोजराज नाग को हिरासत में ले लिया गया है। पूर्व विधायक को धरना स्थल से उठाया गया, फिर उन्हें परतापुर थाने लेकर गए। वहां से बढ़गांव और फिर कोरेकुर्सी थाने में बिठाकर रखा गया है। बताया जा रहा है कि पूर्व विधायक को हिरासत में लिए करीब 7 से 8 घंटे हो गए हैं। इसी वजह से किसान और भड़क गए हैं।

पूर्व विधायक को थाना में बिठाया गया है।
पूर्व विधायक को थाना में बिठाया गया है।

दरअसल, पखांजूर क्षेत्र के व्यापारी सुमन राय ने करीब 600 किसानों से मक्का खरीदी कर उन्हें लगभग 7 करोड़ का भुगतान नहीं किया था। इसी विरोध में किसान शनिवार को सड़क पर उतर आए। हालांकि, व्यापारी सुमन राय के खिलाफ पुलिस ने धारा 420 का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर शनिवार को ही जेल में दाखिल कर दिया है। लेकिन, किसानों की मांग है कि व्यापारी को हमारे सामने लाया जाए। व्यापारी खुद बताएगा कि हमें भुगतान कब और कैसे करेगा?

किसानों को समझाते पुलिस के अधिकारी।
किसानों को समझाते पुलिस के अधिकारी।

पुलिस अफसरों का कहना है कि, जिन किसानों को भुगतान नहीं मिला है वे पुलिस में बयान दर्ज कराएं, ताकि भुगतान दिलाने व्यापारी की संपत्ति कुर्क करने की प्रक्रिया न्यायालय में शुरू की जा सके। वहीं गिरफ्तार व्यापारी ने पुलिस को बताया कि, कुछ किसानों का ही भुगतान शेष है, बाकी का पैसा एजेंटों को दिया जा चुका है, एजेंटों ने गड़बड़ी की है। वहीं पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर आरोपी व्यापारी के पार्टनर शिवम विश्वास को भी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

पूर्व विधायक भोजराज नाग आंदोलन में शामिल हुए थे।
पूर्व विधायक भोजराज नाग आंदोलन में शामिल हुए थे।

मानपुर के भी किसानों का पैसा बाकी
जानकारी के अनुसार, सुमन राय ने पखांजूर के किसानों से 482 ट्रक यानी 1 लाख 2 हजार क्विंटल मक्का खरीदा, जिसका मूल्य 21 करोड़ है। किसानों का आरोप है 7 करोड़ का भुगतान नहीं मिला है। मानपुर क्षेत्र के भी किसान पखांजूर पहुंचे और कहा कि उनके क्षेत्र से भी 20 ट्रक मक्का खरीदा है, आज पैसे लेने बुलाया था। पखांजूर एजेंट के पास पहुंचे तो मामले की जानकारी हुई और धरना प्रदर्शन में शामिल हो गए।