गुहार:कोई बेटा तो कोई मां की देखभाल के लिए चाह रहा संशोधन

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सहायक शिक्षक से प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति की संशोधित सूची जारी की गई है। संशोधित सूची जारी होने के बाद भी शिक्षकों की शिकायतें बनी हुई है। जिनकी पदस्थापना अंदरूनी स्कूलों में कर दी गई है वे संशोधन कराने आवेदन कर रहे हैं। कोई अपने पुत्र तो सास ससुर के स्वास्थ्य संबंधित कारण बता कर पदस्थापना में संशोधन कराना चाह रहे हैं। संशोधित सूची को लेकर शिक्षकों का कहना है आसपास ही प्राथमिक शाला में प्रधानाध्यापक पद रिक्त होने के बावजूद उन्हें काफी दूर भेजा जा रहा है।

1022 शिक्षकों की पदोन्नति सूची 8 फरवरी 2022 को जारी की गई थी। लगातार शिकायतों के बाद संशोधित सूचि जारी करने का आदेश कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को दिया था। 23 जून को संशोधित सूचि जारी भी की गई। इसके बाद भी शिक्षक पदस्थापना में गड़बड़ी की शिकायत लेकर जिला शिक्षा विभाग कार्यालय पहुंच रहे हैं।

अलग-अलग कारण बताते कर रहे आवेदन

नरहरपुर के ग्राम बांधापारा प्राथमिक शाला में सहायक शिक्षक नंदकिशोर जुर्री की पदस्थापना कोयलीबेड़ा के ग्राम मेंड्रा प्राथमिक शाला कर दी गई है। नंदकिशोर ने आवेदन में कहा घर में मां की तबीयत खराब रहती है। देखभाल करने वाला दूसरा कोई नहीं है। परेशानी को देखते उसकी पदस्थापना कोटेला में की जाए।

नावडबरी प्राथमिक शाला में पदस्थ एलबी सहायक शिक्षक प्रभा शोरी ने कहा उनकी पदस्थापना ग्राम भैसाकन्हार कर दी गई है। उसकी सास की तबीयत खराब रहती है। छोटे छोटे बच्चे हैं। पति आर्मी में हैं जो बाहर रहते हैं। घर की देखभाल करने वाला कोई नहीं है। पदस्थापना प्राथमिक शाला इंदिरा आवासपारा की जाए।

अंतागढ़ प्राथमिक शाला में पदस्थ अंजना सलाम को पदोन्नत करते पदस्थापना मासबरस धोबापारा कर दी गई है। अंजना के अनुसार दूरी अधिक होने के कारण उसे आने जाने में दिक्कत होगी। संशोधन करते नवागांव में पदस्थापना की जाए।

खबरें और भी हैं...