बस कंडक्टर को लात-घूंसों, चप्पल से पीटा:सेना के जवान को सीट नहीं दे सका, तो दौड़ा-दौड़ा कर मारा; कान पकड़ उठक-बैठक कराई

कोरबा7 महीने पहले

छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक बस कंडक्टर की जमकर पिटाई की गई। उसे कुछ लोगों ने सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर लात-घूंसों और चप्पल से पीटा। कपड़े फाड़ दिए और कान पकड़ कर उठक-बैठक कराई। कंडक्टर की गलती सिर्फ इतनी थी कि वह एक सवारी को कहने के बाद भी सीट नहीं दे सका था। इसका वीडियो वायरल है। मारने वाला आरोपी सेना का जवान बताया जा रहा है। मामले की शिकायत कोरबी पुलिस चौकी में की गई है। पुलिस मामले की जांच कर FIR दर्ज करने की बात कह रही है।

आरोपियों ने बस में सीट नहीं देने पर कंडक्टर को जमकर पीटा।
आरोपियों ने बस में सीट नहीं देने पर कंडक्टर को जमकर पीटा।

जानकारी के मुताबिक, मामला पसना क्षेत्र के सिरमिना बस स्टैंड का हैै। वहां पहले से ही कुछ लोग खड़े थे। बालोद-कोरबा के बीच चलने वाली बस जैसे ही बस स्टैंड पर पहुंची, वहां खड़े लोगों ने कंडक्टर हीरेंद्र कुमार रजक को नीचे खींच लिया। इसके बाद उसकी पिटाई शुरू कर दी। इस दौरान कंडक्टर हीरेंद्र हाथ जोड़कर माफी मांगता रहा, लेकिन आरोपी उसे पीटते रहे। कंडक्टर जान बचाने के लिए कभी सड़क पर भागता, तो कभी किसी दुकान में घुस जाता, इसके बाद भी आरोपी उसे पीटते रहते।

बस कंडक्टर को पीटते आरोपी।
बस कंडक्टर को पीटते आरोपी।

बीच-बचाव करने आई महिला को भी दिया धक्का

इस दौरान लोगों ने बीच-बचाव का भी प्रयास किया, पर पीटने वाले सुनने के लिए तैयार नहीं थे। एक महिला भी बचाव के लिए आई तो आरोपियों ने उसे भी धक्का देकर सड़क पर गिरा दिया। इसके बाद आरोपियों ने कंडक्टर से उसके मालिक को बुलाने के लिए कहा और कान पकड़ कर सड़क पर ही उठक-बैठक कराई। इस दौरान कंडक्टर हाथ जोड़कर माफी मांगता रहा। सड़क पर घंटों हंगामा चलता रहा। किसी तरह मामला शांत हुआ। इसके बाद आरोपी वहां से चले गए।

पीटने के बाद भी धमकी देते रहे।
पीटने के बाद भी धमकी देते रहे।

छुट्‌टी पर घर आया हुआ है आर्मी जवान

पुलिस ने देर शाम कंडक्टर का मेडिकल कराया है। उसने पुलिस को बताया कि एक दिन पहले बालोद के बांगों क्षेत्र के ग्राम कोंनकोना निवासी आर्मी जवान दीवान प्रताप सिंह आर्मों उसकी बस में सिरमिना जाने के लिए चढ़ा था। भीड़ काफी थी, लेकिन उसने दीवान को सीट दिला देने की बात कही। सीट नहीं मिलने के कारण बस में भी विवाद हुआ था। उसकी सीट पर भी महिला बैठी थी, इसलिए उन्हें हटाकर जवान को बिठा नहीं सका। अगले दिन जवान अपने साथियों के साथ पहुंचा और मारपीट की।

बस कंडक्टर से कान पकड़ कर उठक-बैठक भी कराई।
बस कंडक्टर से कान पकड़ कर उठक-बैठक भी कराई।

पुलिस बोली-जांच के बाद दर्ज करेंगे FIR

थाना प्रभारी शिव कुमार धारी ने बताया कि कंडक्टर हीरेंद्र कुमार की ओर से जवान व अन्य ग्रामीणों के खिलाफ शिकायत मिली है। मामले की जांच कर रहे हैं। पता चला है कि जवान छुट्‌टी पर अपने गांव आया था। आरोप है कि बस में हुए विवाद के बाद वह अपने परिचितों के साथ पहुंचा और मारपीट की। फिलहाल इस पूरी घटना को लोगों ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया। इसके बाद वीडियो सब जगह वायरल हो रहा है।

खबरें और भी हैं...