कोरबा में कोयला चोरी...निशाने पर ग्रामीण:बोले- हम अपने काम से जा रहे थे CISF जवानों ने रोक-रोक कर पीटा; गश्त पर निकले थे जवान

कोरबा3 महीने पहले
सड़क पर बड़ी संख्या में जवान।

छत्तीसगढ़ के कोरबा में CISF के जवानों पर गंभीर आरोप लगे हैं। यहां के लोगों ने जवानों पर उनके साथ मारपीट का आरोप लगाया है। लोगों का कहना है कि हम अपने काम से कहीं जा रहे थे। इस दौरान हमें बीच रास्ते में रोककर पीटा गया है। मारपीट में एक शख्स घायल भी हुआ है। बताया गया कि ये जवान गुरुवार को खदानों में हो रही चोरी के मद्देनजर आस-पास के गांव में गश्त पर निकले थे। इसी दौरान उन्होंने मारपीट की है। ऐसे आरोप ग्रामीणों ने लगाया है।

दरअसल, एशिया के सबसे बड़े खदान कहे जाने वाले दीपका-गेवरा माइंस से कोयला चोरी का वीडियो पिछले दिनों सामने आया था। वीडियो में हजारों की संख्या में ग्रामीण यहां से कोयला चोरी करते नजर आ रहे थे। वीडियो आने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। वहीं सीआईएसएफ की भूमिका भी सवालों के घेरों में थी। इस खदान में सीआईएसएफ के पास ही सुरक्षा की जिम्मेदारी है। इसके बावजूद बड़ी संख्या में ग्रामीण खदान पहुंचे और खुलेआम कोयला लेकर निकल गए थे। इस बिंदू पर भी बिलासपुर रेंज के आईजी ने जांच के आदेश दिए हैं।

खदान के सुरक्षा के जिम्मेदारी सीआईएसएफ के हाथों में ही है।
खदान के सुरक्षा के जिम्मेदारी सीआईएसएफ के हाथों में ही है।

इस बीच गुरुवार को सीआईएसएफ के जवान गेवरा माइंस के आसपास के गांव की सड़कों पर गश्त कर रहे थे। भटोरा गांव के पास भी जवान गए थे। बड़ी संख्या में जवान रोड से पैदल मार्च करते आगे बढ़ रहे थे। इसी दौरान ग्रामीणों ने उन पर मारपीट का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है कि हम अपने काम से यहां से जा रहे थे। मगर बिना किसी कारण के हमें पीटा गया। हमने उनसे पूछा तो भी हमें नहीं बताया गया।

नत्थू सिंह के चेहरे के अलावा शरीर के कई हिस्सों में चोट आई है।
नत्थू सिंह के चेहरे के अलावा शरीर के कई हिस्सों में चोट आई है।

नत्थू सिंह मरकाम नाम के शख्स ने बताया कि वह शादी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जा रहा था। उस दौरान रोड पर काफी भीड़ थी। मैं भी जब वहां गया तो मुझे भी पीटा गया है। कुछ ग्रामीणों का कहना है कि जवानों ने उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा है। मारपीट में नत्थू सिंह को शरीर में कई जगह पर चोटें आई हैं। इधर, इस मामले में जवानों से भी बात करने की कोशिश की गई, तब उनसे बातचीत नहीं हो सकी है।