निरीक्षण:कोयला उत्पादन बढ़ाने सीएमडी ने मेगा परियोजनाओं का दौरा किया

कोरबा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुसमुंडा खदान का दौरा करते सीएमडी व अन्य अफसर। - Dainik Bhaskar
कुसमुंडा खदान का दौरा करते सीएमडी व अन्य अफसर।

एसईसीएल के सीएमडी डाॅ. प्रेमसागर मिश्रा दूसरे दिन भी जिले के काेयला खदानाें के दाैरे पर रहे। इस दाैरान सीएमडी ने तड़के ही काम की गति की जानकारी लेने एसईसीएल के कुसमुंडा खदान के पैच पर पहुंच गए, जहां उन्हाेंने काेयला उत्पादन काे लेकर यहां काम कर रहे अधिकारी और कर्मचारियाें से जानकारी ली। इस दाैरान उनके साथ निदेशक तकनीकी संचालन एसके पाल भी उपस्थित रहे। सीएमडी के निरीक्षण के दाैरान एसईसीएल के तीनों मेगा परियोजनाओं के अनुभवी महाप्रबंधकों की टीम की माैजूदगी रही। सीएमडी पहले कुसमुंडा खदान के काॅन्ट्रेक्चुअल पैच पर पहुंचे थे।

इसके बाद अधिकारियाें की टीम ने एक-एक कर गोदावरी फेस, नारायणी व नीलकंठ पैच का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्हाेंने कंपनी के डिपार्टमेंटल पैच वेस्टर्न, कैट व बरकुटा में चल रहे कामकाज की जानकारी ली और यहां अधिकारी व कर्मचारियाें काे दिशा-निर्देश दिए। कुसमुंडा मेगा परियोजना के दौरे के दाैरान कंपनी के सीएमडी के अलावा तीनों मेगा परियोजनाओं के महाप्रबंधक उपस्थित रहे।

विभागीय अधिकारियाें की ली समीक्षा बैठक
सीएमडी पीएस मिश्रा ने तीनाें परियाेनाओं के महाप्रबंधकाें के साथ ही संबंधित विभाग के अन्य अधिकारियाें के साथ बैठक की और काेयला उत्पादन व डिस्पैच सहित अन्य विभागीय कार्याें की विस्तार से समीक्षा की। सीएमडी ने काेयला उत्पादन बढ़ाने की दिशा में अधिकारियाें काे काम करने के लिए कहा।

मेगा परियाेजनाओं के लिए 50 फीसदी उत्पादन
इस वित्तीय वर्ष में एसईसीएल काेरबा एरिया स्थित मेगा परियाेजनाओं से 130 मिलियन टन से अधिक काेयला उत्पादन करना है। कंपनी ने जहां अब तक 70 मिलियन टन से अधिक काेयला उत्पादन कर लिया है। 57 मिलियन टन काेयला काेरबा जिले में स्थित मेगा परियाेजना कुसमुंडा, दीपका और गेवरा से निकाला गया है।

कंपनी में राेज सवा 4 लाख टन काेयला उत्पादन
एसईसीएल ने उत्पादन लक्ष्य की चुनाैती काे देखते हुए अब कंपनी के खदानाें से राेजाना उत्पादन लक्ष्य काे 4.75 लाख टन तक कर दिया है। मानसून के बाद उत्पादन में तेजी आई है। कंपनी स्तर पर वर्तमान में राेज लगभग 4.25 लाख टन तक काेयला उत्पादन किया जा रहा है।

काेयला मंत्रालय के अधिकारियाें का हाे सकता है दाैरा: काेल इंडिया के उत्पादन लक्ष्य काे पूरा करने के लिए मेगा परियाेजनाओं का उत्पादन बढ़ाने पर जाेर दिया जा रहा है। इसे देखते हुए एसईसीएल स्तर से लेकर काेयला मंत्रालय के अधिकारी उच्च स्तर से कुसमुंडा, दीपका और गेवरा परियाेजनाओं में उत्पादन कार्य की माॅनिटरिंग कर सकते हैं। सीएमडी के दाैरे के बाद ये भी संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनाें में काेयला मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी मेगा परियाेजनाओं काे दाैरा कर सकते हैं, ताकि बचे हुए दिनाें में लक्ष्य के अनुसार काेयला उत्पादन किया जा सके।