सुरक्षा टीम पर पत्थरबाजी:दीपका पुलिस की कार्रवाई, एफआईआर के 3 घंटे के भीतर पकड़े गए 3 आराेपी, 70 लीटर डीजल जब्त

गेवरा-दीपकाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुधवार की रात दीपका खदान में सीआईएसएफ व एसईसीएल के संयुक्त सुरक्षा टीम पर डीजल चाेराें ने पत्थरबाजी की थी। शुक्रवार की दाेपहर एसईसीएल के सुरक्षा विभाग ने घटना की रिपाेर्ट दर्ज कराई। जिसके 3 घंटे के भीतर दीपका पुलिस ने घटना में शामिल 3 आराेपी काे गिरफ्तार कर लिया। दीपका खदान में सीआईएसएफ और एसईसीएल के सुरक्षा विभाग की मुस्तैदी के बाद भी बुधवार की रात डीजल चाेर घुसे थे। जाे सावेल नंबर-29 से डीजल चाेरी कर रहे थे। इस दाैरान खदान में पेट्राेलिंग कर रहे सीआईएसएफ व एसईसीएल के सुरक्षा विभाग की सयुक्त टीम काे डीजल चाेरी की सूचना मिली। जहां पहुंचने पर कुछ लाेग डीजल चाेरी करते नजर आए। जिन्हें पकड़ने के लिए संयुक्त सुरक्षा टीम आगे बढ़ी ताे डीजल चाेर उनपर गाली-गलाैच करते हुए पत्थरबाजी करने लगे। इस दाैरान एसईसीएल के सुरक्षा उपनिरक्षक बीके सिंह के पैर मे चाेट लग गया। जिन्हें अस्पताल दाखिल कराया गया। जिन्हें एनसीएच में उपचार के बाद अपाेलाे रेफर कर दिया गया।

शुक्रवार काे उक्त संयुक्त टीम में शामिल एसईसीएल के सुरक्षा उपनिरीक्षक रामप्रवेश शाह ने दीपका थाना पहुंचकर रिपाेर्ट लिखाई। जिसके बाद एसपी भाेजराम पटेल ने त्वरित कार्रवाई का निर्देश दीपका थाना प्रभारी निरीक्षक अनिल पटेल काे दी। निरीक्षक पटेल के नेतृत्व में पुलिस टीम आराेपियाें की पतासाजी में जुट गई। जिसमें पता चला कि दीपका क्षेत्र के शशि कुमार, सनी राम और रवि पत्थरबाजी में शामिल थे। पुलिस टीम ने 3 घंटे के भीतर उक्त आराेपियाें काे पकड़ा गया। उनके पास से खदान से चोरी कर दाे डिब्बे में रखा 70 लीटर डीजल, खाली डिब्बा व पाइप जब्त किया गया। आराेपियाें के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए भादवि की धारा 457, 379, 186, 353, 332, 294, 506, 34 के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

खबरें और भी हैं...