अवैध रूप उत्खनन:शहरी क्षेत्र में रेत खदान बंद अब घोड़े से कर रहे ढुलाई

कोरबा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहरी क्षेत्र में स्थित माेतीसागरपारा व गेवराघाट-2 रेत खदान काे अब तक शासन से खुलने की मंजूरी नहीं मिली है। शासन के नए निर्देश के तहत उक्त दाेनाें खदान काे संचालन के लिए नगरीय निकाय काे साैंपा जाना है, लेकिन इसके लिए अभी जिला खनिज विभाग के पास गाइडलाइन नहीं आई है। ऐसे में शहरी क्षेत्र में रेत की सप्लाई अवैध रूप उत्खनन करके की जा रही है। इसके लिए जहां कई क्षेत्र में ट्रैक्टर से रेत खपाया जाता है।

वहीं कई क्षेत्र में दिनदहाड़े नदी-नाला से घाेड़े-खच्चर में घर तक रेत की ढुलाई की जा रही है। बुधवार काे बालकाेनगर में बेलगरी नाला से इसी तरह घाेड़े-खच्चर में रेत ढुलाई करते लाेग मिले। पूछने पर उन्हाेंने बताया कि वे तंग गलियाें में मिट्टी, रेत व ईंट की ढुलाई करके परिवार चलाते हैं। प्रति राउंड पर एक पशु का वे 50 रुपए लेते हैं।