पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • 100 Frontline Workers Were Called For Corona Vaccination At Raipur Medical College Booth, Only 9 People Got Vaccinated

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निराशाजनक शुरुआत:रायपुर मेडिकल कॉलेज बूथ पर 100 फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीनेशन के लिए बुलाया था, केवल 9 लोगों ने लगवाया टीका

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर में कलेक्टर सारांश मित्तर और अधिनस्थ राजस्व और प्रशासनिक अधिकारियों ने कोरोना का टीका लगवाया है। - Dainik Bhaskar
बिलासपुर में कलेक्टर सारांश मित्तर और अधिनस्थ राजस्व और प्रशासनिक अधिकारियों ने कोरोना का टीका लगवाया है।
  • प्रदेश भर में 3 बूथों पर 39.33 प्रतिशत ही टीका लगा
  • आज से सभी बूथों पर फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन

छत्तीसगढ़ में कोविड-19 नियंत्रण फोर्स की फ्रंटलाइन पर काम कर रहे अधिकारियों-कर्मचारियों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। हालांकि इसकी शुरुआत बेहद निराशाजनक रही है। रायपुर के जवाहरलाल नेहरु मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में वैक्सीनेशन लिए ऐसे 100 अधिकारियों-कर्मचारियों को बुलाया गया था, लेकिन केवल 9 लोगों ने ही वहां पहुंचकर टीका लगवाया।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रदेश के तीन बूथों से फ्रंटलाइन वर्कर्स यानी पुलिस, राजस्व और नगरीय निकाय के कर्मचारियों-अधिकारियों के वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई। पहले दिन 300 लोग बुलाए गए थे, लेकिन केवल 118 को टीका लगा। रायपुर में 9 और बिलासपुर केंद्र पर 14 लोगों का टीकाकरण हुआ। वहीं रायगढ़ में 95 प्रतिशत लोगों ने टीका लगवा लिया। अधिकारियों ने बताया, शनिवार से प्रदेश के सभी बूथों पर फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन देने का काम शुुरू हो जाएगा।

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर अमर सिंह ठाकुर ने बताया, फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन देने का काम भी शुरू हो गया है। इन फ्रंटलाइन वर्कर्स में पुलिस, राजस्व और नगर निगमों के कर्मचारी शामिल हैं। पुलिस, राजस्व और नगरीय निकायों के 2 लाख कर्मचारियों का पंजीकृत नाम स्वास्थ्य विभाग को मिल गया है। अभी उनके पंजीयन का काम जारी है। डॉ. ठाकुर ने बताया, स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन देने का काम साथ-साथ चलेगा।

बिलासपुर में कलेक्टर ने लगवाया टीका

बिलासपुर में कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने जिला अस्पताल पहुंचकर कोरोना का टीका लगवाया। अपर कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर मनोज केशरिया सहित राजस्व विभाग के कुछ अन्य अफसरों ने यह टीका लगवाया है। बाद में कलेक्टर डॉ. मित्तर ने कहा, कोविड-19 का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने लोगों से बारी आने पर टीका लगवाने का भी आग्रह किया।

अभी तक 1.50 लाख को लग चुका टीका

छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे पहले टीका देने की शुरुआत हुई थी। कुल 267402 स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन देने का लक्ष्य तय हुआ है। शुक्रवार शाम 6 बजे तक 150384 यानी कुल 62.46 प्रतिशत लोगों को ही यह टीका लग गया है। स्वास्थ्य कर्मियों को 13 फरवरी तक वैक्सीन की पहली डोज देने का लक्ष्य तय हुआ है।

20 दिन पहले शुरू हुआ था वैक्सीनेशन

छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की पहली खेप 13 जनवरी को पहुंची। 16 जनवरी से कोरोना का टीकाकरण शुरू हुआ। शुरुआत में टीकाकरण के लिए 97 बूथ बनाए गए थे। प्रत्येक बूथ पर प्रतिदिन 100 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य तय हुआ। यह टीकाकरण प्रत्येक सप्ताह चार दिन होना था। इसमें सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार शामिल था। कुछ बूथों पर मंगलवार और शुक्रवार को भी वैक्सीन लगाई गई।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें