पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हैदराबाद से बस्तर लौटे युवक की मौत:कोरोना जांच की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, कलेक्टर बोले- घबराएं नहीं, सुरक्षित है बस्तर; सुकमा में लौटे मजदूरों का टेस्ट नहीं कराने पर पंचायत सचिव सस्पेंड

​​​​​​​जगदलपुर/सुकमा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस घटना ने प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल दी है। सुकमा और बस्तर जिलों के कलेक्टर का दावा है कि चेकपोस्ट बनाकर पूरी तरह से जांच की जा रही है। - Dainik Bhaskar
इस घटना ने प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल दी है। सुकमा और बस्तर जिलों के कलेक्टर का दावा है कि चेकपोस्ट बनाकर पूरी तरह से जांच की जा रही है।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में एक युवक की मौत हो गई। युवक एक दिन पहले ही हैदराबाद से लौटा था। उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उसके में आंध्र प्रदेश कोरोना वैरिएंट मिलने की आशंका है। हालांकि कलेक्टर रजत बंसल का दावा है कि बस्तर पूरी तरह से सुरक्षित है। यहां नया वैरिएंट नहीं है। वहीं दूसरी ओर दूसरे राज्यों से लौटने वाले मजदूरों की जांच नहीं करने पर सुकमा कलेक्टर ने एक पंचायत सचिव को सस्पेंड कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, लोहंडीगुड़ा विकासखंड में नक्सल प्रभावित क्षेत्र के रतेंगा के डेंगगुड़ापारा निवासी एक युवक 3 मई की शाम गांव लौटा था। वह हैदराबाद में बोर गाड़ी में काम करता था। अगले दिन सुबह उसकी तबीयत बिगड़ी तो परिजन अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक उसने दम तोड़ दिया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि युवक के गांव आने की जब जानकारी मिली, तो उसे क्वारैंटाइन किया गया था।

भास्कर ग्राउंड रिपोर्ट:RT-PCR की निगेटिव रिपोर्ट पर ही एंट्री, पर लक्षण दिखे तो होना पड़ेगा आइसोलेट; आंध्र प्रदेश में कोरोना का नया वैरिएंट मिलने के बाद सड़क से जंगल तक नजर

प्रशासन के दावों की खुली पोल : बार्डर सील, फिर भी नहीं हुई युवक की कोविड जांच
इस घटना ने प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल दी है। आंध्र प्रदेश का बार्डर छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा से लगा हुआ है। युवक इन्हीं दोनों में से किसी बार्डर से अंदर आया होगा। जबकि दोनों जिलों के कलेक्टर का दावा है कि चेक पोस्ट बनाकर पूरी तरह से जांच की जा रही है। जंगल के रास्तों पर भी नजर है। रिपोर्ट निगेटिव हो तो भी आइसोलेट कर रहे हैं। हालांकि युवक किसी चेक पोस्ट से आया इसका पता अभी नहीं चल सका है।

दो दिन पहले आंध्र प्रदेश से आए मजदूरों की जांच ही नहीं की गई
सरकार की ओर से कोरोना का नया वैरिएंट मिलने के बाद बस्तर में अलर्ट किया गया था। इसके बाद से ही सख्ती बढ़ा दी गई। हालांकि इसके बावजूद सुकमा में दो दिन पहले कुछ मजदूरों के बिना कोविड टेस्ट कराए जाने दिया गया। इस पर नाराजगी जताते हुए पर ग्राम पंचायत गंगलेर के सचिव गोलसू सूर्यम नाग को निलंबित कर दिया है। वहीं कार्य में अनियमितता बरतने पर 2 शिक्षक और 3 अन्य सचिवों को नोटिस भी जारी किया है।

खबरें और भी हैं...