पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राम मंदिर भूमि विवाद पर हनुमान दरबार में याचिका:​​​​​​​बिलासपुर में भक्त हनुमान के 'कोर्ट' में पहुंचे कांग्रेसी, BJP-RSS-VHP पर कार्यवाही की मांग; बोले- छद्म भक्तों को सत्ता से हटाएं

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीराम भक्त हनुमान जी को संबोधित याचिका में कहा गया है कि भाजपा, RSS और विश्व हिंदू परिषद सहित उनसे जुड़े संगठन श्रीराम के नाम से लोकतंत्र में झूठ का सहारा लेकर सत्ता में काबिज हुए। - Dainik Bhaskar
श्रीराम भक्त हनुमान जी को संबोधित याचिका में कहा गया है कि भाजपा, RSS और विश्व हिंदू परिषद सहित उनसे जुड़े संगठन श्रीराम के नाम से लोकतंत्र में झूठ का सहारा लेकर सत्ता में काबिज हुए।

अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से खरीदी गई जमीन को लेकर विवाद जारी है। इस बीच छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भगवान श्रीराम के भक्त हनुमान जी के सामने याचिका लगाई है। इस याचिका में BJP, RSS और VHP के छद्म भक्तों पर कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही लिखा है कि अपने कोर्ट में प्रकरण चलाकर इनको सत्ता से बेदखल कर असली राम भक्तों को मंदिर निर्माण की अनुमति प्रदान करें।

याचिका के लिए बकायदा 120 रुपए कोर्ट की फीस भी मंदिर में अर्पित की गई। इसमें 100 रुपए पिटीशन और 20 रुपए आवेदन के लिए जमा किए गए हैं।
याचिका के लिए बकायदा 120 रुपए कोर्ट की फीस भी मंदिर में अर्पित की गई। इसमें 100 रुपए पिटीशन और 20 रुपए आवेदन के लिए जमा किए गए हैं।

याचिका के साथ 120 रुपए कोर्ट फीस भी जमा की गई

दरअसल, छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में अधिवक्ता संदीप दुबे की ओर से मंगला चौक स्थित हनुमान मंदिर में यह याचिका पेश की गई है। इसमें कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव, प्रमोद नायक, विजय केसरवानी, कृष्ण कुमार यादव सहित अन्य को सह याचिकाकर्ता बनाया गया है। इसके लिए बकायदा 120 रुपए कोर्ट की फीस भी मंदिर में अर्पित की गई। इसमें 100 रुपए पिटीशन और 20 रुपए आवेदन के लिए जमा किए गए हैं।

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में अधिवक्ता संदीप दुबे की ओर से मंगला चौक स्थित हनुमान मंदिर में यह याचिका प्रस्तुत की गई है।
छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में अधिवक्ता संदीप दुबे की ओर से मंगला चौक स्थित हनुमान मंदिर में यह याचिका प्रस्तुत की गई है।

2 करोड़ की जमीन 27 करोड़ में खरीद श्रीराम सहित जनता को धोखा दिया

श्रीराम भक्त हनुमान जी को संबोधित याचिका में कहा गया है कि भाजपा, RSS और विश्व हिंदू परिषद सहित उनसे जुड़े संगठनों ने श्रीराम के नाम से लोकतंत्र में झूठ का सहारा लेकर सत्ता में काबिज हुए। कई वर्षों तक धोखे में रखा। फिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हुआ, पर BJP, RSS, VHP के उनके छद्म भक्तों ने मंदिर ट्रस्ट के नाम पर 2 करोड़ की जमीन 27 करोड़ में खरीद कर श्रीराम सहित जनता को भी धोखा दिया है। इस धोखे के लिए अपने कोर्ट में मामला चला कर न्याय करें।

क्या है जमीन खरीद पर विवाद?

दरअसल, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह और समाजवादी पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार में मंत्री रहे पवन पांडेय ने आरोप लगाए हैं कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव चंपत राय ने दो करोड़ रुपए की कीमत वाली भूमि 18.5 करोड़ रुपए में खरीदी। इसे धनशोधन का मामला बताते हुए सिंह और पांडेय ने सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से जांच करवाने की मांग की है। इन आरोपों को लेकर कांग्रेस भी हमलावर हो गई है।

खबरें और भी हैं...