तबादले / आईपीएस नेहा चंपावत छत्तीसगढ़ की पहली महिला गृह सचिव, रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को एसीबी का अतिरिक्त जिम्मेदारी

भूपेश सरकार ने 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया है। आईपीएस नेहा चंपावत को गृह विभाग का विशेष सचिव बनाया गया है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को एसीबी और ईओडब्ल्यू का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। भूपेश सरकार ने 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया है। आईपीएस नेहा चंपावत को गृह विभाग का विशेष सचिव बनाया गया है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को एसीबी और ईओडब्ल्यू का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।
X
भूपेश सरकार ने 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया है। आईपीएस नेहा चंपावत को गृह विभाग का विशेष सचिव बनाया गया है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को एसीबी और ईओडब्ल्यू का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।भूपेश सरकार ने 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया है। आईपीएस नेहा चंपावत को गृह विभाग का विशेष सचिव बनाया गया है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को एसीबी और ईओडब्ल्यू का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

  • राज्य सरकार ने 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र बदले, ईओडब्ल्यू प्रमुख जीपी सिंह को वापस गृह विभाग भेजा
  • आईजी पुलिस मुख्यालय आईपीएस प्रदीप गुप्ता को अस्थाई तौर पर संचालक, लोक अभियोजन नियुक्त किया गया

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 03:45 AM IST

रायपुर. भूपेश बघेल सरकार ने सोमवार को 4 आईपीएस अधिकारियों के कार्य क्षेत्र में बदलाव किया है। इसके बाद आईपीएस नेहा चंपावत को गृह विभाग का विशेष सचिव बनाया गया है। नेहा चंपावत छत्तीसगढ़ की पहली महिला गृह सचिव होंगी। वे 2004 बैच की आईपीएस अफसर हैं। हालांकि, उनकी नियुक्ति अस्थाई तौर पर है। अभी आईपीएस अरूणदेव गौतम गृह सचिव का जिम्मेदारी देख रहे हैं। सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर दिए हैं। 
राज्य सरकार ने एंटी करप्शन ब्यूरो और ईओडब्लू से एडीजी जीपी सिंह को सोमवार को आनन-फानन में हटा दिया। यह कार्रवाई कामकाज से नाराजगी के चलते की गई है। बताते हैं कि ईओडब्लू के कामकाज से नाराज सीएम भूपेश बघेल ने ईओडब्लू में फेरबदल का आदेश तत्काल जारी करने कहा। सीएम के निर्देश के बाद सामान्य प्रशासन विभाग से सिंह को हटाने का आदेश जारी हुआ। जीपी सिंह के बदले रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को ईओडब्लू और एंटी करप्शन ब्यूरो का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया। सरकार के निर्देश पर शेख ने सोमवार को ही जाकर चार्ज संभाल लिया। 
सीएम भूपेश बघेल के पास पिछले तीन दिनों से ईओडब्लू के कामकाज की बातें पहुंच रही थीं। कुछ विभाग के अफसरों ने जाकर शिकायत भी की थी। बताते हैं कि कल रात को काफी देर तक सीएम ने विभागीय अफसरों के साथ ईओडब्लू के कामकाज की समीक्षा की। इसमें सरकार संतुष्ट नहीं थी। इसी के चलते सोमवार को आदेश जारी किया गया और सिंह को सीधे पुलिस मुख्यालय भेज दिया गया। सिंह को अभी किसी प्रकार की दूसरी जिम्मेदारी नहीं दी गई  जिसके बाद हटाकर पुलिस मुख्यालय भेज दिया है। उनसे अभियाेजन और एफएसएल के डायरेक्टर का पद भी वापस ले लिया गया है। जीपी के बदले रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को कमान सौंपी है। 

लंबे अरसे बाद डीआईजी रैंक के अफसर को यह जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले एडीजी और डीजी रैंक के अफसर यह जिम्मेदारी संभाल रहे थे। पीएचक्यू में पदस्थ प्रशासन व सीआईडी के आईजी प्रदीप गुप्ता को एफएसएल और अभियोजन का डायरेक्टर बनाया गया है। इसी तरह डीआईजी नेहा चंपावत को गृह विभाग में विशेष सचिव की जिम्मेदारी दी गई है। नेहा पहली महिला आईपीएस हैं, जिन्हें गृह विभाग में पदस्थ किया गया है। वे सीआईडी में एट्रोसिटी व महिला अपराध की जिम्मेदारी संभाल रही थीं।

जबकि आईजी पुलिस मुख्यालय आईपीएस प्रदीप गुप्ता को अस्थाई तौर पर संचालक, लोक अभियोजन नियुक्त किया है। इसके साथ उन्हें संचालक, राज्य न्यायिक विज्ञान प्रयोगशाला का अतिरिक्त जिम्मेदारी भी दी गई है। अभी तक राज्य न्यायिक विज्ञान प्रयोगशाला का भी प्रभार आईपीएस गुरजिंदर पाल सिंह के पास था। 

11 अफसरों के ईओडब्लू एसीबी से तबादले, जांच के घेरे में 
ईओडब्लू और एसीबी से 11 अफसरों और जवानों का 30 मई को अचानक तबादला कर उनके मूल विभाग में भेजने का आदेश जारी किया गया। इनमें 11 की सेवाएं तो पुलिस मुख्यालय को लौटाई गईं हैं। सरकार ने इन तबादलों को भी जांच के घेरे में ले लिया है। तबादला इसलिए भी चर्चा में है क्योंकि ईओडब्लू और एसीबी प्रतिनियुक्ति की पोस्टिंग है। यहां से तबादले का आदेश गृह विभाग से ही जारी किया जा सकता है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने इस बारे में कहा कि तबादला आदेश के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना