छग में स्कूल खुलते ही कोरोना भी अनलॉक!:​​​​​​​कोरबा में मोहल्ला क्लास के 8 और बलरामपुर में 1 छात्र संक्रमित; सभी की उम्र 9 से 14 साल

कोरबा/बलरामपुर2 महीने पहले
कलेक्टर रानू साहू ने क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। साथ ही वहां कैंप लगाकर टेस्ट किया जा रहा है।

छग में स्कूलों के अनलॉक का आज दूसरा दिन ही है कि कोरोना को लेकर बुरी खबर आ गई है। कोरबा में संचालित मोहल्ला क्लास के 8 बच्चे और बलरामपुर में 7वीं क्लास का एक छात्र पॉजिटिव मिला है। इन संक्रमित छात्रों की उम्र 9 से 14 साल के बीच है। अब क्लास के सभी बच्चों की जांच के निर्देश दे दिए हैं। वहीं, मंगलवार को पंचायत की बैठक के बाद स्कूल बंद करने का फैसला लिया गया है।

इसी के साथ कोरबा जिले में करीब 2 महीने बाद एक साथ 24 संक्रमित मिले हैं। इनमें 12 मरीज शहर के मानिकपुर के कदमहाखार साहूपारा के हैं। ये ज्यादातर मजदूर वर्ग के हैं। उनकी तबीयत खराब होने पर मोहल्ले में अन्य लोगों का टेस्ट कराया गया था, जिसमें सबकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें 6 बच्चे शामिल हैं। यह भी एक दिन पहले मोहल्ला क्लास में शामिल हुए थे। इनमें 2 बच्चे 7वीं के और बाकी प्राइमरी क्लास के हैं। वहीं पाली विकासखंड में 2 बच्चे संक्रमित मिले हैं।

बंद किया गया स्कूल, बस्ती में लगाया गया हेल्थ कैंप
इसके बाद कलेक्टर रानू साहू ने क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। साथ ही वहां कैंप लगाकर कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। स्कूल के प्राचार्य सुरेश कुमार वस्त्रकार ने बताया कि शासन के आदेश अनुसार 2 अगस्त से प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्कूल खोला गया था। वार्ड पार्षद और समिति के अनुमोदन के बाद बच्चों को बुलाया गया था। इसमें आए बच्चे संक्रमित मिले हैं।

रामानुजगंज में सभी बच्चों का टेस्ट कराने स्वास्थ्य विभाग को पत्र
बलरामपुर में रामानुजगंज के बरवाही में संचालित मोहल्ला क्लास में 7वीं में पढ़ रहे छात्र की रिपोर्ट पॉजेटिव आई है। इसके बाद अब साथ बैठने वाले सभी बच्चों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। विकास खंड शिक्षाधिकारी ने चिकित्साधिकारी को पत्र लिखा है। इसमें बताया गया है कि मोहल्ला क्लास में पढ़ने वाला एक छात्र संक्रमित मिला है। इसके चलते साथ बैठने वाले अन्य छात्रों के भी टेस्ट की भी व्यवस्था की जाए।

खबरें और भी हैं...