पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नक्सल के खिलाफ अभियान:​​​​​​​दंतेवाड़ा में DRG जवान निकले थे नक्सल ऑपरेशन पर, रास्ते में इनामी नक्सली सहिदा का स्मारक दिखा तो ग्रामीणों के साथ किया ध्वस्त

दंतेवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में शुक्रवार सुबह DRG जवानों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर एक नक्सली स्मारक को ध्वस्त कर दिया। यह नक्सली स्मारक 8 रुपए की इनामी सहिदा का था। साल 2016 में नारायणपुर और दंतेवाड़ा पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन के दौरान उसे मार गिराया था। वह इंद्रावती एरिया कमेटी के बड़े नक्सली लीडरों में से एक थी। उसकी मौत के बाद नक्सलियों ने कुर्शिंगबहार में सहिदा का स्मारक बना दिया था।

जानकारी के मुताबिक, इंद्रावती एरिया कमेटी के नक्सली अजय अलामी सहित अन्य नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। इस पर DRG जवानों को नक्सल ऑपरेशन पर रवाना किया गया था। इस दौरान जंगल में जवानों को आता देख नक्सली घने पेड़ों की आड़ लेकर भाग निकले। इसके बाद जवानों ने इलाके में सर्चिंग आपरेशन भी चलाया। हालांकि अभी तक कोई नक्सली पकड़ में नहीं आया है। नक्सली अजय पर 8 लाख रुपए का इनाम है।

जवानों के सहयोग से ग्रामीणों ने खुद स्मारक को ध्वस्त किया। यह नक्सली स्मारक 8 रुपए की इनामी सहिदा का था।
जवानों के सहयोग से ग्रामीणों ने खुद स्मारक को ध्वस्त किया। यह नक्सली स्मारक 8 रुपए की इनामी सहिदा का था।

ग्रामीणों ने दी स्मारक की सूचना, तोड़ने में भी मदद की
दंतेवाड़ा SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया, बारसूर क्षेत्र के कुर्शिंगबहार गांव के बीच में ही सहिदा का स्मारक बना हुआ था। सुबह DRG जवानों को इलाके में सर्चिंग करते हुए देख ग्रामीणों ने स्मारक के बारे में जानकारी दी। जवानों के सहयोग से ग्रामीणों ने खुद स्मारक को ध्वस्त किया। उन्होंने कहा कि अंदरूनी इलाके के ग्रामीण भी अब माओवाद से मुक्ति चाहते हैं। पुलिस को वहां भी लोगों का सहयोग मिल रहा है।

खबरें और भी हैं...