हाथियों ने 6 दिन में ली 6 लोगों की जान:महासमुंद में बाइक सवार को उठाकर पटका, फिर आगे जाकर एक किसान को भी कुचला; महासमुंद में 3 साल में 16 लोगों को मार डाला

महासमुंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में हाथियों का आतंक जारी है। रविवार रात को भी एक दंतैल हाथी ने बाइक सवार एक युवक को मार डाला। वहीं उसी दंतैल ने आगे जाकर खेत की रखवाली कर रहे किसान को भी कुचल दिया। जिससे उसकी भी मौके पर मौत हो गई है। इस तरह प्रदेश में पिछले 6 दिनों के अंदर 6 लोगों की जान हाथी के हमले के कारण चली गई है।

जानकारी के मुताबिक, शहर के वार्ड क्रमांक-08 का रहने वाला राजू विश्वकर्मा अपने 2 साथी के साथ महादेव पठार घूमने गया था। घूमने के बाद वो रात को बाइक में अपने दो साथियों के साथ लौट रहा था। अचानक गोरखेड़ा के पास सामने से दंतैल हाथी आ गया। हाथी को अचानक देख राजू हड़बड़ा गया, वो कुछ कर पाता इससे पहले ही हाथी ने उसे जोर से पटक-पटककर मारा डाला। वहीं उसके 2 साथी किसी तरह से भागने में कामयाब रहे। घटना के बाद वन विभाग को भी इसकी सूचना दी गई थी। जिसके बाद वन विभाग की टीम ने शव को कब्जे में लिया है।

राजू विश्वकर्मा का शव इस तरह से वन विभाग को मिला है।
राजू विश्वकर्मा का शव इस तरह से वन विभाग को मिला है।

मूंगफली फसल की रखवाली कर रहे किसान को मारा

यही दंतैल हाथी गोरखेड़ा के आगे झालखम्हरिया गांव पहुंच गया। यहां भी उस दंतैल ने खूब आतंक मचाया और खेत में मूंगफली फसल की रखवाली कर रहे 30 साल के किसान परमेश्वर कमार को कुचलकर मार डाला। बताया जा रहा है कि जिले के अलग-अलग जंगलों में 6 हाथियों का झुंड विचरण कर रहा है। उन्हीं हाथियों से ये हाथी भटककर ग्रामीण क्षेत्रों में भी पहुंच रहा है।

बाइक सवार को सूंड से पकड़कर पटक दिया
इसके करीब 5 दिन पहले भी सिरपुर में हाथी ने एक बाइक सवार को मार डाला था। वह पटेवा से बाइक से अपने गांव जा रहा था। ग्राम बंदोरा के पास उसका दंतैल से सामना हो गया। वह हड़बड़ा गया। इसी दौरान दंतैल से उसे सूंड से पकड़कर पटक दिया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

हाथी का आतंक:अचानक सामने आया हाथी, बाइक सवार को सूंड से पकड़ा और पटककर मार डाला, दूसरे ने भागकर बचाई जान

एक ही परिवार के 3 लोगों को मारा

वहीं 4 दिन पहले अंबिकापुर में हाथियों ने एक ही परिवार के 3 लोगों को मार डाला था। कुन्नी निवासी गौतम दास (30) अपनी पत्नी रीना दास (28) और 4 साल के बेटे युवराज के साथ स्कूटी से उदयपुर गया था। वहां माइक्रो फाइनेंस कंपनी से 30 हजार रुपए निकालने के बाद तीनों बुधवार रात गांव लौट रहे थे। इसी दौरान अलकापुरी से मोहनपुर चौक के पास रास्ते मे खड़े हाथियों ने स्कूटी सवार परिवार पर हमला कर दिया। हाथियों ने महिला व बच्चे को उछालकर दूर फेंक दिया और गौतम को कुचल दिया था।

हाथियों ने परिवार को मार डाला:अंबिकापुर में स्कूटी सवार युवक को कुचला, पत्नी और 4 साल के बेटे को फुटबॉल की तरह 100 मीटर दूर फेंका; आग जलाकर रात भर बैठे रहे ग्रामीण

महासमुंद में लगातार हाथी करते रहे हैं हमला

15 मई को महासमुंद के ग्राम परसाडीह में एक 15 साल के लड़के के सामने उसके पिता को हाथी ने मार डाला था। सालभर पहले एक किसान को भी हाथी ने घसीट-घसीट कर मार दिया था। उस वक्त किसान अपने खेत में काम कर रहा था। तभी अचानक आए हाथी ने उस पर हमला कर दिया था।

महासमुंद में 3 साल में 16 लोगों की मौत

एक आंकड़े के मुताबिक जिले में पिछले तीन सालों में 16 लोगों की जान जा चुकी है। सर्वाधिक 7 मौतें वर्ष 2019-20 में हुई थी। वहीं 2020-21 में 4 और 2021-22 में अब तक 5 मौतें हुई। महासमुंद के शहरी और ग्रामीण इलाकों में आए दिन हाथियों की वजह से दहशत का माहौल रहता है। इस इलाके में हाथी अब भी कहीं न कहीं गांव में घुस आते हैं। अक्सर ग्रामीण या वन विभाग की टीमें इन्हें जंगलों में खदेड़ती है।

खबरें और भी हैं...