पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अव्यवस्थाओं की धान खरीदी:कवर्धा और धमतरी में किसान सड़क पर उतरे, रास्ता जाम किया; महासमुंद में सोसायटी में जड़ा ताला

कवर्धा/महासमुंद/धमतरी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ के कवर्धा में किसानों ने कुकदूर-बजाग मार्ग पर चक्काजाम कर दिया है। यह मार्ग छत्तीसगढ़ को मध्य प्रदेश के शहडोल से जोड़ता है। किसान पंजीयन निरस्त करने और कम धान खरीदी से नाराज हैं। इसी तरह धमतरी और महासमुंद में भी किसानों का प्रदर्शन चल रहा है। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ के कवर्धा में किसानों ने कुकदूर-बजाग मार्ग पर चक्काजाम कर दिया है। यह मार्ग छत्तीसगढ़ को मध्य प्रदेश के शहडोल से जोड़ता है। किसान पंजीयन निरस्त करने और कम धान खरीदी से नाराज हैं। इसी तरह धमतरी और महासमुंद में भी किसानों का प्रदर्शन चल रहा है।
  • धमतरी के दुगली में धान खरीदी केंद्र खोले जाने की मांग को लेकर दो दिन से जारी है प्रदर्शन
  • कवर्धा में पंजीयन निरस्त होने पर भड़के किसान, छत्तीसगढ़-मध्य प्रदेश मार्ग जाम किया

छत्तीसगढ़ में एक दिसंबर से शुरू हुई धान खरीदी के महाअभियान की व्यवस्थाएं दूसरे दिन ही चरमरा गईं। धमतरी के दुगली में धान खरीदी केंद्र खोले जाने की मांग को लेकर जहां किसानों का दो दिन से प्रदर्शन जारी है। वहीं अब कवर्धा में भी बुधवार को किसानों ने मोर्चा खोल दिया। पंजीयन निरस्त होने से भड़के किसानों ने छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश मार्ग पर जाम लगा दिया। उधर, महासमुंद में भी किसानों ने सोसायटी के गेट पर ताला जड़ा है।

कवर्धा में कुकदूर (पंडरिया) में चाटां सेवा सहकारी समिति ने कई किसानों का पंजीयन निरस्त कर दिया है। इसके विरोध में किसान अफसरों को बुलाने की मांग कर रहे हैं।
कवर्धा में कुकदूर (पंडरिया) में चाटां सेवा सहकारी समिति ने कई किसानों का पंजीयन निरस्त कर दिया है। इसके विरोध में किसान अफसरों को बुलाने की मांग कर रहे हैं।

कवर्धा : 9 क्विंटल से ज्यादा खरीदी नहीं होने से नाराज किसान
कवर्धा में कुकदूर (पंडरिया) में चाटां सेवा सहकारी समिति ने कई किसानों का पंजीयन निरस्त कर दिया है। इनमें से कई किसानों ने धान नहीं बोई, वहीं कई अव्यवस्था की चपेट में आ गए। इसके बाद किसानों ने कुकदूर-बजाग मार्ग पर चक्काजाम कर दिया है। यह मार्ग छत्तीसगढ़ को मध्य प्रदेश के शहडोल से जोड़ता है। किसान नेता रवि चंद्रवंशी का कहना है कि इस केंद्र में कई किसानों का पंजीयन निरस्त हुआ। वहीं केवल 9 क्विंटल धान खरीदी ही की जा रही है।

जिले में 97,341 किसानों ने कराया है पंजीयन, पिछली बार से 11,868 ज्यादा
कबीरधाम जिले में 90 प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समितियों के 94 धान उपार्जन केंद्रों के माध्यम से खरीदी जा रही है। जिले में इस वर्ष 97, 341 किसानों ने अपना पंजीयन कराया है। जो कि पिछली बार की तुलना में 11,868 ज्यादा है। पिछले वर्ष पंजीकृत किसानों की संख्या 85,473 थी। वहीं पिछले वर्षों की तुलना में धान का रकबा में 8349 हेक्टेयर बढ़ोतरी हुई है। इस वर्ष 30 नए प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समिति का गठन किया गया है।

धमतरी के दुगली में किसानों ने 30 नवंबर की सुबह हाईस्कूल के पास पंडाल लगाकर प्रदर्शन शुरू किया।
धमतरी के दुगली में किसानों ने 30 नवंबर की सुबह हाईस्कूल के पास पंडाल लगाकर प्रदर्शन शुरू किया।

धमतरी : किसानों ने एक दिसंबर की देर रात से जाम कर रखा है स्टेट हाईवे
धमतरी के दुगली में किसानों ने 30 नवंबर की सुबह हाईस्कूल के पास पंडाल लगाकर प्रदर्शन शुरू किया। शाम तक कोई अफसर नहीं पहुंचा तो देर रात किसान सड़क पर आ गए और स्टेट हाईवे जाम कर दिया। किसानों का कहना है, 20 साल से दुगली में केंद्र खोलने की मांग कर रहे हैं। दुगली सहित 6 ग्राम पंचायतों में 1200 किसान पंजीकृत हैं। उन्हें धान बेचने 20-25 किमी दूर डोंगरडुला जाना पड़ता है। रास्ता खराब है। कलेक्टर को बुलाने की मांग पर किसान अड़े हैं।

महासमुंद : किसानों के फेर में फंसा केंद्र, अफसरों को समिति की रिपोर्ट का इंतजार
महासमुंद के पिथौरा में धान उपार्जन केंद्र विलोपित करने से सरकड़ा के किसान आक्रोशित हो गए हैं। उन्होंने सोसायटी में ताला लगा दिया। किसानों ने SDM को ज्ञापन देकर सरकडा धान उपार्जन केंद्र नयापारा खुर्द यथावत रखे जाने की मांग की थी। 30 नवंबर तक मांग पूरी नहीं करने पर घेराव की चेतावनी भी दी। इसके बाद भी उसे नहीं सुना गया और एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो गई। इसके बाद किसानों का गुस्सा भड़क गया।

महासमुंद के पिथौरा में धान उपार्जन केंद्र विलोपित करने से सरकड़ा के किसान आक्रोशित हो गए हैं। उन्होंने सोसायटी में ताला लगा दिया।
महासमुंद के पिथौरा में धान उपार्जन केंद्र विलोपित करने से सरकड़ा के किसान आक्रोशित हो गए हैं। उन्होंने सोसायटी में ताला लगा दिया।

किसानों के प्रदर्शन को लेकर कलेक्टर को दी गई सूचना
वहीं SDM राकेश गोलछा ने बताया कि स्थल चयन के लिए 4 सदस्यीय टीम बनाई गई है। उसका निर्णय नहीं आया है। SDM ने बताया कि पटपर पाली, अमलीडीह, भिथिडीह के किसान पटपर पाली में और लहरौद, नयापारा, सरकडा के किसानों ने पुरानी जगी नयापारा में उपार्जन केंद्र शुरू करने का आवेदन दिया है। इसी को देखते हुए समिति का गठन किया गया था। किसानों के आंदोलन और उनकी मांग के साथ स्थिति के बारे में कलेक्टर को अवगत कराया गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें