पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खाद नहीं मिली तो किसानों का गुस्सा फूटा:अंबिकापुर-रायगढ़ नेशनल हाईवे पर किया चक्काजाम, चिलचिलाती धूप में घंटों परेशान होते रहे लोग

अंबिकापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसान सुबह 6 बजे से खाद दुकान में पहुंचे थे। लेकिन घंटों इंतजार के बाद भी किसानों को खाद नहीं मिली तो हंगामा कर दिया। - Dainik Bhaskar
किसान सुबह 6 बजे से खाद दुकान में पहुंचे थे। लेकिन घंटों इंतजार के बाद भी किसानों को खाद नहीं मिली तो हंगामा कर दिया।

छत्तीसगढ़ में किसान इन दिनों अलग-अलग कारणों से परेशान हो रहे हैं। कहीं बिजली कटौती की समस्या से किसान नाराज हैं, तो कहीं खाद समय पर नहीं मिलने से। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में बुधवार को खाद नहीं मिलने से किसानों ने हंगामा कर दिया। नाराज किसानों ने रायगढ़ जाने वाले नेशनल हाईवे पर चक्कजाम कर दिया। इसके चलते यहां तेज धूप में राहगीर परेशान होते रहे। हालांकि, कुछ देर पर प्रशासन के समझाने पर किसानों ने प्रदर्शन बंद कर दिया।

चक्काजाम होने के चलते रास्ते में इस तरह का जाम घंटों लगा रहा।
चक्काजाम होने के चलते रास्ते में इस तरह का जाम घंटों लगा रहा।

अंबिकापुर शहर के भारत माता चौक पर स्थित सरकारी खाद की दुकान में किसान खाद लेने पहुंचे थे। यहां बड़ी संख्या में किसान सुबह से पहुंच गए, लेकिन किसानों को जब काफी देर तक खाद नहीं मिली तो उन्होंने चक्काजाम कर दिया। इसके कारण अंबिकापुर से रायगढ़ जाने वाली रोड घंटों जाम रही। यहां आने-जाने वाले लोगों को काफी इंतजार करना पड़ा। किसानों ने बताया कि हम पिछले 3-4 दिन से परेशान हो रहे हैं।

एसडीएम ने खाद दुकान को खुलवाया और फिर किसानों को खाद मिलनी।
एसडीएम ने खाद दुकान को खुलवाया और फिर किसानों को खाद मिलनी।

चक्काजाम की खबर लगते ही जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम प्रदीप साहू मौके पर पहुंच गए। उन्होंने तुरंत खाद दुकान खुलवाकर किसानों को व्यवस्थित तरीके से खाद दिलाने की प्रक्रिया शुरू कराई। सीएसपी समेत पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा और जाम हटाकर ट्रैफिक फिर से शुरू कराया।

घंटों जाम की सूचना पर ट्रैफिक पुलिस के जवान भी मौके पर पहुंचे।
घंटों जाम की सूचना पर ट्रैफिक पुलिस के जवान भी मौके पर पहुंचे।

मंगलवार को कवर्धा के ग्रामीण क्षेत्र के 20 से अधिक गांव में 25 दिन से लगातार ट्रिपिंग और बिजली कटौती के चलते परेशान किसानों ने बिजली विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। यहां किसान लोहारा नाका स्थित बिजली कंपनी के कार्यालय पहुंच गए थे और जमकर नारेबाजी की थी। किसानों का कहना था कि खेती के का समय भी अगर समय पर बिजली नहीं मिलेगी तो हम खेती कैसे करेंगे।

कवर्धा में किसान इस तरह से बिजली ऑफिस में धरने पर बैठ गए थे।
कवर्धा में किसान इस तरह से बिजली ऑफिस में धरने पर बैठ गए थे।
खबरें और भी हैं...