CRPF कैंप पर नक्सलियों का हमला:आधे घंटे चली फायरिंग, जवानों ने भी दिया मुंहतोड़ जवाब; अब तक किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं

जगदलपुर/बीजापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पामेड़ का यह इलाका पूरी तरह से नक्सलियों के कब्ज में है।(फाइल) - Dainik Bhaskar
पामेड़ का यह इलाका पूरी तरह से नक्सलियों के कब्ज में है।(फाइल)

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में स्थित CRPF कैंप पर नक्सलियों ने सोमवार शाम को अचानक हमला कर दिया है। बताया गया है कि कैंप के अंदर जवान मौजूद थे कि अचानक नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। वहीं, इस फायरिंग का जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। दोनों तरफ से फायरिंग बंद हो गई है। सूत्रों के अनुसार नक्सलियों ने कैंप पर 5 से 6 UBGL भी दागे हैं। इलाके में नेटवर्क नहीं होने की वजह से ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है।

फिलहाल घटना में अब तक किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है। जानकारी के मुताबिक पामेड़ से लगे धर्मारम में CRPF पर नक्सलियों ने हमला किया है। दोनों तरफ से हो रही गोलीबारी की आवाज पामेड़ तक सुनाई दे रही है। कैंप में फायरिंग की पुष्टि बीजापुर जिले के ASP पंकज शुक्ला ने की है।

इलाके में चल रहा है सड़क निर्माण
पामेड़ के धर्मारम में हाल ही सुराक्षबलों का नवीन कैंप खोला गया है। इसी कैंप का नक्सली विरोध कर रहे हैं। यह इलाका पूरी तरह से नक्सलियों के कब्जे में हैं। यहां खुले कैंप से नक्सलियों में बौखलाहट देखने को मिल रही है। कैंप खुलने से इलाके में करोड़ों रुपए के सड़क व पुल निर्माण का काम चल रहा है। तेलांगाना को पामेड़ और बासागुड़ा होते बीजापुर को जोड़ने धर्मारम में सड़क बनाई जा रही है। इधर, सोमवार की शाम घने जंगल का फायदा उठा कर नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी है।

5 महीने पहले बीएसएफ कैंप पर किया था हमला
इससे 5 महीने पहले भी नक्सलियों ने कांकेर जिले में BSF कैंप पर हमला किया था। उस दौरान भी करीब दोनों तरफ से फायरिंग की थी। राहत की बात यह रही हमले में किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ था। पुलिस के अधिकारियों ने बताया था कि कामतेड़ा कैंप में रात को नदी किनारे से आए नक्सलियों ने कैंपर हमला किया था। जब जवानों ने नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया, तब नक्सलियों जंगल की ओर भाग निकले थे।

खबरें और भी हैं...