पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Chhattisgarh Sukma Firing Case Update; Letter Written In Codeword Recovered For Plotting Naxalite Attack In Silger In Dantewada

सिलगेर कैंप पर हमले का कोडवर्ड:8 लाख रुपए की इनामी गंगी ने लीडर चैतू को लिखा पत्र-'टोरा का तेल निकाल कर रखना'; दंतेवाड़ा SP का दावा- हमले की साजिश रच रहे नक्सली

सुकमा/बीजापुर/दंतेवाड़ा3 महीने पहलेलेखक: लोकेश शर्मा
  • कॉपी लिंक
दंतेवाड़ा SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि जब नक्सली कोई षड्यंत्र या योजना बनाते हैं तो इस तरह के कोड वर्ड का इस्तेमाल करते हैं। - Dainik Bhaskar
दंतेवाड़ा SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि जब नक्सली कोई षड्यंत्र या योजना बनाते हैं तो इस तरह के कोड वर्ड का इस्तेमाल करते हैं।

छत्तीसगढ़ के सिलगेर में चल रहा पुलिस कैंप का विरोध अब नक्सलियों के टारगेट पर आ गया है। पुलिस ने गोंडी बोली में लिखा एक पत्र बरामद किया है। यह पत्र महिला नक्सली गंगी ने अपने लीडर चैतू को लिखा है। इसमें खासतौर से सिलगेर का जिक्र है। साथ ही कोडवर्ड टोरा का तेल निकाल कर रखना' का भी इस्तेमाल किया गया है। इसके बाद दंतेवाड़ा SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने दावा किया है कि नक्सली बड़े हमले की साजिश रच रहे हैं। इसके बाद पुलिस अलर्ट पर है।

नक्सली सदस्य भी हो रहे सिलगेर आंदोलन में शामिल
सुकमा-बीजापुर बार्डर पर स्थित सिलगेर लंबे समय से नक्सलियों का गढ़ रहा है। हाल ही में पुलिस कैंप खुलने के बाद से यहां ग्रामीण लगातार विरोध कर रहे हैं। पत्र से इस बात का भी पता चला है कि ग्रामीणों के साथ नक्सली संगठन CNM के सदस्य भी इसमें शामिल हैं। उनकी गिनती और किन गांवों से शामिल हुए हैं इसकी जानकारी करने को कहा गया है। साथ ही लिखा गया है कि दुश्मन की परिस्थितियां इस समय सही नहीं हैं। उनके हाथ नहीं लगना है, इस बात का ख्याल रखना।

एक दिन पहले पकड़े गए नक्सली से बरामद हुआ था पत्र
दरअसल, दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा के सरहदी इलाकों से DRG जवानों ने नक्सल ऑपरेशन के दौरान 8 संदिग्धों को पकड़ा था। तलाशी के दौरान उनके पास से मिले पिठ्‌ठू बैग से एक पत्र बरामद हुआ है। गोंडी बोली में हाथ से लिखे गए इस पत्र का अनुवाद हिंदी में कराया गया तो इसका खुलासा हुआ। पत्र जिस महिला नक्सली गंगी ने लिखा है उस पर 8 लाख रुपए का इनाम है। जबकि लीडर चैतू 25 लाख रुपए का इनामी है। फिलहाल पुलिस पकड़े गए संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

पत्र के आखिरी में कोडवर्ड में कही गई है हमले की बात
दंतेवाड़ा SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि चैतू को लिखे इस पत्र की अंतिम लाइन में गंगी ने 'टोरा तेल निकाल कर रखे रहना' और 'पका आम सुखाकर रखे रहना' लिखा है। उनका कहना है कि जब नक्सली कोई षड्यंत्र या योजना बनाते हैं तो इस तरह के कोड वर्ड का इस्तेमाल करते हैं। SP डॉ. पल्लव ने इस पत्र के माध्यम से ही दावा किया है कि सिलगेर कैंप पर नक्सली बड़ा हमला करने की साजिश रच रहे हैं। वहां हजारों ग्रामीण एकत्र हुए हैं। उनकी आड़ में नक्सली इस हमले को अंजाम दे सकते हैं।

सिलगेर में कैंप के विरोध की आग, ...फायरिंग, भगदड़ और मौत
बीजापुर-सुकमा बार्डर पर स्थित सिलगेर में कैंप खुलने का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। ग्रामीण करीब 25 दिन से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच 17 मई को इस विरोध के दौरान फायरिंग हुई। गोली लगने से नाबालिग सहित तीन लोगों की मौत हुई। पहले उन्हें नक्सली बताया गया, फिर ग्रामीण होने की पुष्टि हुई। इस दौरान मची भगदड़ में घायल एक गर्भवती महिला ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अब एक बार फिर बुधवार को ग्रामीणों ने वहां बड़ी रैली का आयोजन किया है।

खबरें और भी हैं...