फिर टावर पर चढ़ा युवक:कोरबा में 120 फीट की ऊंचाई पर रस्सी बांधकर उल्टा लटका, 4 घंटे बाद नीचे उतरा तो बिगड़ी तबीयत; 6 महीने पहले भी चढ़ा था

कोरबाएक महीने पहले
पुलिस ने नीचे उतरने के बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

कोरबा में सोमवार को एक युवक जान देने के लिए हाईटेंशन बिजली के टावर पर चढ़ गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस और ग्रामीण उसे समझाकर करीब 4 घंटे बाद टावर से नीचे उतारा। युवक की तबीयत ठीक नहीं बताई जा रही है। पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। हालांकि अभी तक युवक के टावर पर चढ़े होने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। करीब 6 माह पहले भी युवक टावर पर चढ़ गया था। तब उसने आबकारी विभाग के कर्मचारियों पर परेशान करने और रुपए मांगने का आरोप लगाया था। मामला रामपुर चौकी क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम नकटीखार निवासी दूज राम सोमवार दोपहर करीब 12 बजे गांव में ही घर के पास लगे बिजली के टावर पर चढ़ गया। करीब 120 फीट ऊंचे टावर पर दूज राम ने खुद के पैर रस्सी से बांध लिए हैं और उल्टा लटक गया। सूचना मिलने पर ग्रामीणों के साथ ही डायल 112 की टीम और चौकी पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गए। वे दूज राम को नीचे उतरने के लिए समझाते रहे। काफी कोशिशों के बाद दोपहर करीब 4 बजे दूज राम नीचे उतरने के लिए तैयार हुआ।

पुलिस ने बताया कि टावर से नीचे उतरते-उतरते दूज राम की तबीयत बिगड़ती चली गई। वह नीचे आते ही गिर पड़ा। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं लग रही थी। नीचे उतरते समय भी वह बोल रहा था कि आबकारी विभाग के कर्मचारियों ने उसे परेशान कर रखा है। अभी तक उसके बयान नहीं हो सके हैं। स्थिति सुधरने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आबकारी विभाग पर वसूली का आरोप लगा चढ़ा था टावर पर

इससे पहले 22 फरवरी को भी युवक टावर पर चढ़ गया था। तब उसने आरोप लगाया था कि पीने के लिए बनाई गई महुआ शराब को जब्त कर आबकारी विभाग के कर्मचारियों ने उससे 10 हजार रुपए मांगे थे। उसकी पत्नी की भी तबीयत खराब है और उसके इलाज में सारे रुपए खर्च हो चुके हैं। खेत को भी गिरवी रखा है। ऐसी स्थिति में वह मानसिक रूप से परेशान हो गया है और जान देना चाहता है। हालांकि समझाने पर उतर आया था।

खबरें और भी हैं...