पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर में दशहरा:सांकेतिक रावण दहन के साथ मना उत्सव, सीएम बोले- इस पर्व से सत्य की राह पर चलने की मिलती है सीख

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो रायपुर रावणभाटा मैदान की है। यहां भगवान बालाजी की पालकी को पूजने के बाद कार्यक्रम का आगाज हुआ।
  • पहली बार रायपुर के रावणभाटा मैदान में रावण दहन का कार्यक्रम नहीं हुआ, आम लोगों को नहीं मिली एंट्री
  • रायपुर के महापौर एजाज ढेबर , निगम सभापति प्रमोद दुबे और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल भी हुए शामिल

रायपुर के रावणभाटा मैदान में ब्रिटिश काल से दशहरा मनाने की परंपरा रही है। रविवार को पहला मौका था जब यहां पर रावण के पुतले का दहन नहीं हुआ। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल , महापौर एजाज ढेबर और नगर निगम के सभापति की मौजूदगी में राम बने कलाकार ने रावण की प्रतिमा की ओर तीर चलाकर रावण का सांकेतिक वध किया। इस कार्यक्रम में अपने संबोधन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, दशहरा का पर्व असत्य पर सत्य की जीत, अंधकार पर प्रकाश की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व है। यह पर्व हमें अपने अहंकार तथा बुराई को समाप्त कर अच्छाई तथा सत्य की राह पर चलने का सीख देता है।

कार्यक्रम स्थल पर राम बने कलाकार ने रावण की बड़ी प्रतिमा की तरफ तीर चलाकर वध किया।
कार्यक्रम स्थल पर राम बने कलाकार ने रावण की बड़ी प्रतिमा की तरफ तीर चलाकर वध किया।

सन 1554 से जारी है परंपरा
उन्होंने आगे कहा कि श्री दूधाधारी मठ द्वारा आयोजित यह उत्सव छत्तीसगढ़ के सबसे प्राचीन दशहरा उत्सव में माना जाता है। इसके लिए उन्होंने संरक्षक राजेश्री महंत डॉ. रामसुंदरदास और अध्यक्ष मनोज वर्मा के प्रयास को सराहा । उन्होंने बताया कि राजधानी रायपुर में नागपुर के भोसले वंश के शासक रघुराव जी भोसले द्वारा संवत 1610 यानी सन 1554 में श्री दूधाधारी मठ की स्थापना की गई थी। तब से लेकर अब तक यहां दशहरा उत्सव उत्साह के साथ मनाया जाता रहा है।

रावण की इसी प्रतिमा की वजह से इस मैदान को रावणभाटा मैदान कहा जाता है।
रावण की इसी प्रतिमा की वजह से इस मैदान को रावणभाटा मैदान कहा जाता है।

कोरोना रूपी राक्षस को मारना है
कार्यक्रम में पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल भी पहुंचे उन्होंने कहा कि इस बार कोरोना महामारी के बीच हम उत्सव मना रहे हैं। रावण रूपी बुराई का वध भगवान श्री राम ने किया। हमें अब सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने जैसी आदतों का पालन कर कोरोना रूपी इस राक्षस का अंत करना है। कार्यक्रम में पार्षद सतनाम पनाग, पार्षद समीर अख्तर, पार्षद सरिता वर्मा, चंद्रशेखर शुक्ला, प्रभात मिश्रा, सुशील ओझा, पुनीत देवांगन वगैरह मौजूद थे। आम लोगों को कार्यक्रम स्थल पर एंट्री नहीं दी गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें