सलाखों के पीछे पहुंचा कोरोना:जशपुर जेल में 21 कैदी पॉजिटिव मिले, अलग बैरक बनाकर किया गया शिफ्ट; बाहर से आ रहे सामान से संक्रमित होने की आशंका

जशपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला जेल की बैरक में मौजूद 46 कैदियों का सैंपल टेस्ट किया गया। इसमें से 21 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला जेल की बैरक में मौजूद 46 कैदियों का सैंपल टेस्ट किया गया। इसमें से 21 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

छत्तीसगढ़ की जशपुर जिला जेल में गुरुवार को 21 कैदी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जेल में अलग से कोविड केयर बैरक बना दिया गया है। सभी संक्रमित बंदियों को इसी में रखा गया है। आशंका जताई जा रही है कि बाहर से आने वाले सामान से संक्रमण फैला है। कारण बताया जा रहा है कि किसी आरोपी को कोर्ट में पेश करने के पूर्व ही उसका टेस्ट कराया जाता है। जेल स्टाफ के जरिए संक्रमण फैलने जैसी बात भी अभी तक सामने नहीं आई है।

बताया जा रहा है कि जेल में बुधवार को एक कैदी संक्रमित मिला था। इसके बाद उसकी बैरक में मौजूद 46 कैदियों का सैंपल टेस्ट किया गया। इसमें से 21 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बाकी कैदियों का शुक्रवार को टेस्ट कराया जाएगा। आशंका है कि जेल के अन्य कैदी एक-दूसरे के संपर्क में आए हों। ऐसे में एहतियात के तौर पर उनकी जांच कराना जरूरी है। जेलर ने बताया कि संक्रमित बंदियों की दोनों वक्त जांच की जा रही है और उन्हें दवाएं दी जा रही हैं।

रायपुर और दुर्ग सेंट्रल जेल में अब तक 5 कैदियों की संक्रमण से हो चुकी है मौत
इससे पहले रायपुर सेंट्रल जेल और दुर्ग केंद्रीय जेल में बंद पांच कैदियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। वहीं करीब 70 कैदी पॉजिटिव हो चुके हैं। पिछले साल मार्च में कोरोना के केसों को देखते हुए हजारों कैदियों को अंतरिम जमानत दी गई और पैरोल पर छोड़ा गया था। इस दौरान दो बार पैरोल बढ़ाई गई और दिसंबर तक कैदियों को बाहर रखा गया था। इसके कारण संक्रमण रोकने में मदद मिली थी।

जिले में मिले 74 पॉजिटिव, अब एक्टिव केस 3612
शहरी क्षेत्र में सबसे ज्यादा संक्रमण बढ़ रहा है। गुरुवार को 74 नए संक्रमितों की पहचान हुई है। इससे पहले बुधवार को 518 पॉजिटिव मिले थे। इसके बाद एक्टिव केस की संख्या 3,612 पहुंच गई है। वहीं मरने वाले मरीजों का आंकड़ा 103 हो गया। अब तक कुल 12877 संक्रमित हो चुके हैं। इनमें सबसे अधिक संख्या में शहर में 2,447 लोगों की है। वहीं ठीक होने वालों की कुल संख्या 8,842 है। इसमें से अधिकांश लोग होम आइसोलेशन में रहते हुए ठीक हुए हैं।

खबरें और भी हैं...