प्रदेश में 26 से 'यास' का असर:ओडिशा और झारखंड से लगे महासमुंद, जशपुर, जगदलपुर जैसे जिलों में ज्यादा प्रभाव, 29 मई तक तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की चेतावनी

रायपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चक्रवाती तूफान यास के चलते ही दक्षिण पूर्व रेलवे ने अब तक 28 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। - Dainik Bhaskar
चक्रवाती तूफान यास के चलते ही दक्षिण पूर्व रेलवे ने अब तक 28 ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

छत्तीसगढ़ में ओडिशा और झारखंड से लगे जिलों में चक्रवाती तूफान यास का प्रभाव पड़ने वाला है। मौसम विभाग के अनुसार ओडिशा और झारखंड से लगे हुए जिलों में एक दो स्थानों पर भारी वर्षा के साथ बिजली चमकने की संभावना है। वहीं तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश भी हो सकती है। ओडिशाऔर झारखंड से लगे जिलों में 26 से 29 मई तक बारिश हो सकती है। मुख्यतः 27 मई को इसका प्रभाव ज्यादा रहेगा। महासमुंद,गरियाबंद,जशपुर और जगदलपुर जिले में इसका प्रभाव ज्यादा रहेगा। प्रदेश में अधिकतम तापमान में विशेष कमी आने की संभावना नहीं है, लेकिन कई जिलों में बादल, बूंदाबांदी, तेज हवाएं चलने का अनुमान है।

बिलासपुर और रायपुर में उमस बढ़ी

इधर अगर बिलासपुर शहर की ही बात की जाए तो सोमवार को पूरे दिन बादलों ने डेरा डाला हुआ था। बीच-बीच में धूप छांव भी होती रही, लेकिन गर्मी की स्थिति जस की तस बनी रही। इस प्रकार शहर में सोमवार को भी लोग उमस के कारण परेशान होते दिखे। वहीं राजधानी रायपुर में सुबह धूप खिल रही, लेकिन शाम होने तक आसमान में बादल छा गए। यहां भी लोगों को गर्मी से निजात नहीं मिली।

चक्रवाती तूफान में बदलेगा

यास पिछले 6 घंटों के दौरान 02 किमी प्रति घंटे की गति के साथ बंगाल की पूर्वी-मध्य खाड़ी के ऊपर उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है और सोमवार को पूर्वी तट पर स्थित है। मौसम विभाग के अनुसार इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की बहुत संभावना है।

मौसम विभाग के अनुसार अगले 12 घंटों के दौरान यास चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। यह 26 मई की सुबह तक उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ना जारी रखेगा, आगे बढ़ेगा और उत्तर ओडिशा और पश्चिम बंगाल तटों के पास बंगाल की उत्तर-पश्चिम खाड़ी तक पहुंच जाएगा। 26 मई को दोपहर के करीब 10.30-12.30 बजे पारादीप और सागर द्वीप के बीच उत्तर ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों को पार करने की आशंका है।

छत्तीसगढ़ के रेल यात्रियों पर भी असर

चक्रवाती तूफान यास के मद्देनजर देखते हुए दक्षिण पूर्व रेलवे (SER) ने अब तक 28 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। यह ट्रेनें रविवार से 30 मई तक कैंसिल रहेंगी। इसके चलते हावड़ा, अहमदाबाद, पुणे, मुंबई का सफर संभव नहीं हो सकेगा। रायपुर से गुजरने वाली और 6 ट्रेन रविवार को कैंसल हुई थी। शनिवार को 2 जबकि शुक्रवार को 9 रेल गाड़ियों का संचालन रद्द किया गया था। ईस्ट कोस्ट रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार यास चक्रवात की चेतावनी के कारण इन्हें 24 मई से लेकर 29 मई तक के लिए रोका गया है।

खबरें और भी हैं...