लाल आतंक की साजिश नाकाम:सर्चिंग पर निकले जवानों को उड़ाने के लिए नक्सलियों ने बिछा रखे थे विस्फोटक, CRPF जवानों ने नष्ट किए IED बम

दंतेवाड़ा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विस्फोट के बाद काफी बड़ा गुबार जंगल में दिखा। जवानों ने इस IED को जंगल में सुरक्षित तरीके से ब्लास्ट कर दिया। - Dainik Bhaskar
विस्फोट के बाद काफी बड़ा गुबार जंगल में दिखा। जवानों ने इस IED को जंगल में सुरक्षित तरीके से ब्लास्ट कर दिया।

दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के नापाक मंसूबों को एक बार फिर नाकाम कर दिया है। जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाए गए 5 किलो की IED को सर्चिंग के दौरान बरामद किया गया। जिले के मालेवाही थाना के घोटिया मोड़ पर नक्सलियों ने ये IED लगा रखी थी। CRPF 195 बटालियन और सीएएफ के जवानों की नजर इस बम पर पड़ गई। जिले के पुलिस अधीक्षक डॉ.अभिषेक पल्लव ने बताया कि विस्फोटक के मिलने के बाद उसे सावधानी से निकाला गया।

सड़क की निगरानी में जवान

जहां IED मिली वह इलाका नक्सलियों का गढ़ माना जाता है। इसी इलाके से बारसूर से पल्ली तक सड़क निर्माण कार्य भी किया जा रहा है। इसी सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगे जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सली लगातार इस तरह की हरकत करते हैं। इससे पहले नक्सलियों ने मार्च महीने में भी एक आईईडी प्लांट किया था। जिसे जवानों ने समय रहते डिफ्यूज कर दिया था।

पहले भी इसी तरह की हरकतें कर चुके हैं

पिछले साल मार्च में भी नक्सलियों ने इसी स्थान पर सुरक्षा बलों को निशाना बनाया था। जिसमें 2 जवान शहीद हो गए थे। उस दौरान नक्सलियों ने एक के बाद एक 10 से ज्यादा आईईडी ब्लास्ट किया था। वहीं एक हफ्ते पहले नक्सलियों ने बचेली में रेल लाइन दोहरीकरण में लगे पोकलेन को आग के हवाले कर दिया था। उस समय भी ये बात सामने आई थी कि आगजनी की वारदात को अंजाम देने नक्सली 50 से 60 की संख्या में पहुंचे थे।

खबरें और भी हैं...