पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कुत्तों ने चीतल को नोच-नोच कर मार डाला:​​​​​​​धमतरी में जंगल से निकल कर बस्ती में पहुंचा था चीतल, बचने के लिए बाड़ी में छिपा; डॉक्टरों ने इलाज भी किया, पर 4 घंटे बाद तोड़ दिया दम

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चीतल की उम्र करीब 4 साल बताई जा रही है। आशंका है कि संक्रमण के चलते उसकी मौत हो गई।  - Dainik Bhaskar
चीतल की उम्र करीब 4 साल बताई जा रही है। आशंका है कि संक्रमण के चलते उसकी मौत हो गई। 

छत्तीसगढ़ के धमतरी में शुक्रवार को कुत्तों ने एक चीतल को नोच-नोच कर मार डाला। इस दौरान चीतल बचने के लिए भागता रहा और एक बाड़ी में छिप गया। सूचना मिलने पर वन विभाग और डॉक्टरों की टीम पहुंच गई। उन्होंने चीतल का उपचार भी किया, लेकिन 4 घंटे बाद चीतल ने दम तोड़ दिया। फिलहाल वन विभाग की टीम अब पोस्टमार्टम के बाद चीतल के अंतिम संस्कार की व्यवस्था कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, वन विभाग की केरेगांव रेंज के कक्ष क्रमांक 162 सियादेही परिसर से एक चीतल शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे कुकरेल बस्ती में पहुंच गया। बस्ती में चीतन को देख 8 से 10 आवारा कुत्तों ने उस पर हमला कर दिया। चीतल बचने के लिए इधर-उधर भागता रहा। फिर वहीं रहने वाले हितेश सिन्हा की बाड़ी में जाकर छिप गया। बस्ती के लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी। तब तक चीतल गंभीर रूप से घायल हो चुका था।

पैर, जांघ और गले पर आए घाव, नहीं बच सकी जान
सूचना मिलने पर केरेगांव रेंज के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे। बाड़ी में चीतल खून से लथपथ बैठा हुआ था। मौके पर ही डॉक्टरों को बुलाया गया। उन्होंने चीतल का उपचार शुरू किया। इसके बाद उसे वन विभाग के केरेगांव कक्ष में देखरेख के लिए लाया गया। हालांकि दोपहर करीब 1.30 बजे चीतल की मौत हो गई। चीतल की उम्र करीब 4 साल बताई जा रही है। आशंका है कि संक्रमण के चलते उसकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...