कोरोना इफेक्ट / 4 शादियां स्थगित; निमंत्रण कार्ड भी बंट गए, मोदी का भाषण सुना तो इरादा बदला, कहा- पहले सुरक्षा जरूरी 

प्रतीकात्मक तस्वीर। प्रतीकात्मक तस्वीर।
X
प्रतीकात्मक तस्वीर।प्रतीकात्मक तस्वीर।

  • ये परिवार अपने बच्चों की शादी की तैयारी दो माह पहले कर चुके थे जिसमें सारे मेहमानों को निमंत्रण देने के साथ साथ विवाह के सारे सामान भी खरीद चुके थे
  • पहले परिवार और खुद की सुरक्षा जरूरी है जब सब लोग स्वस्थ रहेंगे तो बेटी बेटों की शादी धूमधाम से कर लेंगे

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 09:01 AM IST

पलारी. शादी की सभी तैयारियां पूरी हो गई थी। मेहमानों को निमंत्रण कार्ड भी भेज दिए गए थे। बाकी था तो सिर्फ मंडप और फेरे की रस्में। सबकुछ तय होने के बाद भी शहनाई नहीं बजी क्योंकि कोरोनावायरस के कारण देश में लॉकडाउन है। एक साथ चार शादियां स्थगित कर दी गई। 
सभी परिजनों ने कहा कि देश पहले है, संकट की यह घड़ी टल जाए फिर मांगलिक कार्य संपन्न हो जाएंगे। मांगलिक कार्यों की वजह से अमंगल फैले, ऐसे काम नहीं करेंगे। पालकों ने समवेत स्वर में कहा कि मांगलिक आयोजन बाद में भी कर लेंगे और इसके लिए अपने मेहमानों से क्षमा भी मांग लेंगे, लेकिन अभी समूह में जमा होना ठीक नहीं है।

27 को आनी थी बेटी की बारात, पीएम का भाषण सुना तो स्थगित कर दी शादी

पलारी ब्लॉक के ग्राम गिर्रा गांव में लखेराम धीवर ने बताया कि उनके घर पर बुधवार 25 मार्च को उनकी बेटी की शादी की रस्में शुरू होने वाली थीं। इसके लिए घर के करीबी रिश्तेदार मेहमान आ चुके थे मगर अचानक मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉकडाउन को बढ़ाते हुए 14 अप्रैल तक पूरे देश में 144 लागू करने की घोषणा कर दी। बेटी प्रिया रीना धीवर की शादी मुड़पार गनियारी निवासी रोशन पिता शिवचरण से तय हुई थी, जिसकी बारात 27 मार्च को आनी थी। आनन फानन में इसे स्थगित करते हुए वर पक्ष के लोगों से स्थिति सामान्य होने तक इंतजार करने का निवेदन किया गया, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार भी कर लिया। 

दो शादियां एक साथ थीं, दोनों ने मिलकर स्थगित की

इसी तरह ग्राम अमेरा के भागवत पटेल के बेटे नारायण पटेल की बारात लाहौद निवासी कन्या भगवती पिता पुनीराम पटेल के घर 2 अप्रैल को जाना था जबकि भागवत की बेटी पुष्पा पटेल की शादी मनोज पटेल पिता श्यामसुंदर पटेल हसुवा से तय हुई थी। इसकी बारात 3 अप्रैल को आना था। यानी भागवत को बेटे-बेटी दोनों की शादी थी। दोनों शादियों को वर व वधु पक्ष के लोगों ने मिलकर स्थगित किया गया। 

कन्या के चाचा सुधराम ने कहा- पहले परिवार और देश की सुरक्षा जरूरी 

अमेरा में ही मोनिका ममता यादव पिता स्वर्गीय परमात्मा यादव की शादी रूपलाल पिता रामलाल कटगी निवासी से तय हुई थी जिसकी बारात 2 अप्रैल को अमेरा आती मगर दोनों परिवारों ने मिलकर शादी स्थगित कर दी। मोनिका के चाचा सुधराम यादव ने कहा कि अभी जिस तरह से देश का वातावरण है उसमें सबसे पहले परिवार और खुद की सुरक्षा जरूरी है जब सब लोग  स्वस्थ रहेंगे तो बेटी बेटों की शादी धूमधाम से कर लेंगे। अभी मेहमानों को बुलाकर और खुद की जान को जोखिम में डाल शादी करना कोई बुद्धिमानी का काम नहीं है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना