साढ़े 4 माह की बच्ची अगवा:परिजन खाट पर सुलाकर कमरे में खाना खाने गए थे; बदले की भावना से नदी में फेंकने की आशंका से 4 घंटे तलाशते रहे गोताखोर

कवर्धा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यही बच्ची हुई है गायब। - Dainik Bhaskar
यही बच्ची हुई है गायब।

छत्तीसगढ़ के कवर्धा में साढ़े 4 माह की बच्ची शुक्रवार रात रहस्यमय ढंग से घर से गायब हो गई है। परिजन बच्ची को खाट पर सुलाकर कमरे में खाना खाने के लिए गए थे। लौटे तो बच्ची गायब थी। इसके बाद परिजनों ने थाने में अपहरण की FIR दर्ज कराई है। बच्ची की तलाश के लिए गोताखोर बुलाए थे। करीब 4 घंटे की तलाश के बाद उनके भी हाथ खाली हैं। बच्ची के पिता खेतिहर मजूदर हैं, ऐसे में पुलिस को आशंका थी कि बदले की भावना से किसी ने बच्ची को नदी में फेंक दिया होगा। फिलहाल 20 घंटे से उसका कुछ पता नहीं है।

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस रात से ही बच्ची की तलाश कर रही है, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका है।
मामला दर्ज होने के बाद पुलिस रात से ही बच्ची की तलाश कर रही है, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका है।

जानकारी के मुताबिक, पांडातराई क्षेत्र के ग्राम खरहट्टा निवासी किसान फूलचंद चंद्राकर (38) अपनी पत्नी अश्वनी चंद्राकर (34) और चार बच्चों के साथ रहते हैं। उनके 3 लड़कियां और एक लड़का है। रोज की तरह शुक्रवार रात भी करीब 8 बजे सबसे छोटी बच्ची को कमरे में खाट पर सुलाने के बाद सभी लोग खाना खाने दूसरे कमरे में चले गए। कुछ देर बाद लौटे तो बच्ची गायब थी। उन्होंने आसपास तलाश किया, पर बच्ची का पता नहीं चला।

घर के पीछे ही है नदी

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस रात से ही बच्ची की तलाश कर रही है, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका है। किसान के घर के पीछे ही नदी बहती है। पुलिस को अंदेशा था कि किसी ने बदले की भावना या द्वेष वश नदी में उसे फेंक दिया होगा। गोताखोर उसे तलाशते रहे, पर पता नहीं चला। SDOP नरेंद्र वेंताल ने बताया कि अब तक इस संबंध में 50 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। बच्ची के पिता भी खेत मजदूरी करते हैं। ऐसे में पैसों के लिए अगवा करने की बात नहीं हो सकती है।

खबरें और भी हैं...