पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल में शादी:आधे मेहमानों को तिलकोत्सव में तो आधे को बारात में बुला रहे, सोशल मीडिया में ग्रुप बनाकर लाइव दिखा रहे शादी

अंबिकापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ई-कार्ड का चलन बढ़ा, रिश्तेदारों को निमंत्रण ऑनलाइन भेज रहे, बच्चों और बुजुर्गों को साथ नहीं लाने की कर रहे अपील

अंकित द्विवेदी | देवउठनी एकादशी के साथ ही शादियों की शुरुआत हो गई है। वहीं प्रशासन के नियमों ने शादी समारोह की तैयारियों को बदल दिया है। अब लोग कार्ड प्रिंट कराने की अपेक्षा ई-कार्ड को तवज्जो दे रहे हैं।
वहीं कम लोगों के शामिल होने की बंदिश के कारण लाइव स्ट्रीमिंग का सहारा ले रहे हैं। इसके साथ ही एक ही शादी के कई कार्यक्रम कर अलग-अलग रिश्तेदारों को बुला रहे हैं। जिससे सभी रिश्तेदार शामिल भी हों और प्रशासन का नियम भी नहीं टूटे। विवाह घर संचालकों ने बताया कि लॉकडाउन लगने के बाद काफी संख्या में लोगों ने शादियों की तारीख को आगे बढ़ा दी और स्थितियां सामान्य होने का इंतजार करने लगे। देवउठनी एकादशी से शादियों के मुहूर्त तो शुरु हुए, लेकिन कोरोना की रफ्तार भी तेज हो गई। ऐसे में लोग अब शादियों को टालने की अपेक्षा नए विकल्प तलाश रहे हैं। पंचानन होटल के मालिक कांत दुबे ने बताया कि कोरोना के कारण कई लोगों ने शादियों को ही स्थगित कर दिया है।

सभी मेहमानों को भेज रहे लिंक ताकि घर बैठे देख सकें शादी
अलंकार ग्रीन होटल के संचालक रंजय स्वर्णकार ने बताया कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन में हर आयोजन पर 200 लोगों की सीमा निर्धारित कर दी है। इसके लिए लोग तमाम तरह के नए प्रयोग कर रहे हैं। इसमें सोशल मीडिया के माध्यम से लाइव स्ट्रीमिंग प्रमुख रूप से शामिल है। विभिन्न एप पर ग्रुप बनाकर लोग उसकी लिंक मेहमानों को भेज रहे हैं। वहीं बुजुर्ग और बच्चों को शादी में नहीं लाने की अपील भी कर रहे हैं।

एक हजार कार्ड की जगह सौ कार्ड छप रहे हैं: हिंदुस्तान प्रिंटिंग प्रेस के संचालक ने बताया कि कार्ड छपवाने के लिए जहां पहले एक शादी के लिए आमतौर पर एक हजार कार्ड छपते थे, वहीं अब सिर्फ सौ कार्ड ही छपवा रहे हैं। कार्ड पर लोग मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने और तबीयत खराब होने पर, बुजुर्गों व बच्चों को नहीं आने की अपील भी प्रिंट करवा रहे हैं।

कोरोना में मेहमानों की संख्या सीमित करने अलग-अलग बुलाए
शहर निवासी एक बैंक के आरएम चंद्रशेखर तिवारी के बेटे की शादी थी। इसमें शामिल होने के लिए रिश्तेदारों की संख्या सीमित करने के लिए उन्होंने दो अलग-अलग आयोजन किए और अलग-अलग रिश्तेदारों को बुलाया। पहले तिलक में 50 रिश्तेदारों को शामिल होने का न्यौता दिया। इसके बाद शादी समारोह में शामिल होने के लिए 50 अलग रिश्तेदारों को निमंत्रण दिया। इस दौरान सोशल मीडिया के माध्यम से लाइव स्ट्रीमिंग का प्रबंध किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser