पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Handloom (Hathkargha) Weaver Launches Clothing New Series Of Kaushalya Collection Today In Chhattisgarh Raipur

हथकरघा का कौशल्या कलेक्शन:माता कौशल्या अब महिलाओं के आंचल में भी बसेंगी; साड़ियों पर उकेरी गई मंदिर की डिजाइन

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय संस्कृति की परंपरा और आस्था से जुड़ी बनावट और वास्तु शिल्प अब कपड़ों पर भी दिखाई देगी। इसके लिए छत्तीसगढ़ के बुनकरों ने साड़ियों और वस्त्रों पर डिजाइन उकेरी है। जिसके बाद हथकरघा ने कपड़ों की नई श्रृंखला कौशल्या कलेक्शन लॉन्च किया है।
  • छत्तीसगढ़ ग्रामोद्योग मंत्री की पहल पर हथकरघा ने लॉन्च की कपड़ों की नई श्रृंखला
  • वन गमन पथ में शामिल पर्यटन स्थलों पर होगी बिक्री, चंदखुरी है भगवान राम की ननिहाल

भारतीय संस्कृति की परंपरा और आस्था से जुड़ी बनावट और वास्तु शिल्प अब कपड़ों पर भी दिखाई देगी। इसके लिए छत्तीसगढ़ के बुनकरों ने साड़ियों और वस्त्रों पर डिजाइन उकेरी है। इसके बाद हथकरघा ने कपड़ों की नई श्रृंखला कौशल्या कलेक्शन लॉन्च किया है। इसमें माता कौशल्या को महिलाओं के आंचल में स्थान दिया गया है।

कौशल्या मंदिर की दीवारों में उकेरी गई वास्तुकला से डिजाइन ली गई है। इन डिजाइन्स को रंग-बिरंगे रेशमी धागों से साड़ियों और वस्त्रों पर बुना गया है।
कौशल्या मंदिर की दीवारों में उकेरी गई वास्तुकला से डिजाइन ली गई है। इन डिजाइन्स को रंग-बिरंगे रेशमी धागों से साड़ियों और वस्त्रों पर बुना गया है।

दरअसल, प्रदेश के ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्र कुमार की पहल पर रायपुर के चंदखुरी स्थित माता कौशल्या के प्राचीन मंदिर की बनावट और वास्तुशिल्प को कपड़ों में डिजाइन के लिए चुना गया। चंदखुरी को भगवान राम का ननिहाल माना जाता है। राज्य सरकार राम वन गमन पथ को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में जगह दिलाने के लिए काम कर ही है।

ऑनलाइन मार्केटिंग भी शुरू की गई, कोई भी खरीद सकेगा
मंत्री गुरू रुद्र ने बताया कि माता कौशल्या मंदिर परिसर में उकेरी गई वास्तुकला की छाप को हथकरघा के माध्यम से बुनकरों ने वस्त्रों व साड़ियों पर बुना है। बुनकरों के इस नए प्रयोग को हथकरघा विभाग ने कौशल्या कलेक्शन के नाम से लॉन्च किया है। बुनकरों और शिल्पियों के उत्पादों को ऑनलाइन मार्केटिंग की व्यवस्था शुरू की गई है।

मंदिर परिसर में उकेरी गई वास्तुकला की छाप को हथकरघा के माध्यम से बुनकरों ने वस्त्रों व साड़ियों पर बुना है। बुनकरों के इस नए प्रयोग को हथकरघा विभाग ने कौशल्या कलेक्शन के नाम से लॉन्च किया है।
मंदिर परिसर में उकेरी गई वास्तुकला की छाप को हथकरघा के माध्यम से बुनकरों ने वस्त्रों व साड़ियों पर बुना है। बुनकरों के इस नए प्रयोग को हथकरघा विभाग ने कौशल्या कलेक्शन के नाम से लॉन्च किया है।

रेखा चित्रों से बुनकरों ने धागे से कपड़ों पर उकेरी कृतियां
प्रमुख सचिव ग्रामोद्योग डॉ. मनिंदर कौर द्विवेदी ने बताया कि कौशल्या मंदिर की दीवारों में उकेरी गई वास्तु कला से डिजाइन ली गई है। मंदिर के मुख्य द्वार से लेकर अंदर की दीवारों की सजावट के डिजाइन का रेखा चित्र बनाकर बुनकरों को दिया गया था। इन डिजाइनों को रंग-बिरंगे रेशमी धागों से साड़ियों और वस्त्रों पर बुना गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें