लापता ऑटो चालक का शव कुएं में मिला:हत्या की आशंका, ​​​​​​​गुस्साई बेटियों ने ग्रामीणें के साथ NH-43 किया जाम; 3 घंटे तक हंगामा, FIR नहीं दर्ज करने पर ASI सस्पेंड

अंबिकापुर2 महीने पहले
परिजन बोले- नरेंद्र की हत्या की गई है। कुछ दिन पहले बाहरी जिलों से काम की तलाश में आए लोगों से विवाद हुआ था।

अंबिकापुर में सोमवार सुबह लापता ऑटो चालक का शव एक कुएं में मिलने के बाद हंगामा हो गया। मृतक की बेटियों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर नेशनल हाईवे NH-43 पर जाम लगा दिया। सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर पहुंच गए। करीब 3 घंटे तक हंगामा चलता रहा। वाहनों की लाइन लग गई। पुलिस व प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाया। वहीं, कार्रवाई नहीं करने पर एक ASI संतोष तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया है।

ग्रामीणों ने शांतिपारा में हाईवे पर जाम लगा दिया। सड़क बंद कर दी गई।
ग्रामीणों ने शांतिपारा में हाईवे पर जाम लगा दिया। सड़क बंद कर दी गई।

जानकारी के मुताबिक, बतौली क्षेत्र के शांतिपारा निवासी नरेंद्र मिश्रा (40) अपनी पत्नी और 3 बेटियों के साथ रहते थे और ऑटो चलाते थे। वह 24 सितंबर को घर से निकले, लेकिन इसके बाद से कुछ पता नहीं था। काफी तलाश के बाद भी नरेंद्र नहीं मिले तो परिजन थाने में शिकायत लेकर पहुंचे। आरोप है कि ड्यूटी पर तैनात ASI संतोष तिवारी ने उनकी शिकायत ही नहीं सुनी और भगा दिया। इसके बाद सोमवार सुबह वहीं एक कुएं से उनका शव मिला। इसकी सूचना मिलते ही लोगों का गुस्सा भड़क गया।

हाईवे पर हंगामा होने पर पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे, लोग मानने को तैयार नहीं थे।
हाईवे पर हंगामा होने पर पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे, लोग मानने को तैयार नहीं थे।

बेटियों के साथ सड़क पर उतरे लोग, टायर जलाकर सड़क पर डाले
इसके बाद सुबह करीब 9 बजे ऑटो चालक की बेटियां और ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर सड़क पर उतर आए। ग्रामीणों ने शांतिपारा में ही नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया। लाठियां रखकर सड़क बंद कर दी। कई जगहों पर टायर जलाकर डाल दिए। बीच हाईवे पर हंगामा होता देख वाहनों को रोक दिया गया। पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे, लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए SDM दीपिका नेताम, एडिशनल एसपी विवेक शुक्ला सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई।

ऑटो चालक की बेटियां और ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर सड़क पर उतर आए।
ऑटो चालक की बेटियां और ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर सड़क पर उतर आए।

बाहरी लोगों पर हत्या का आरोप, कुछ दिन पहले हुआ था विवाद
परिजनों और ग्रामीणों का कहना था कि ऑटो चालक नरेंद्र मिश्रा की हत्या की गई है। कुछ दिन पहले बाहरी जिलों से काम की तलाश में आए लोगों से नरेंद्र मिश्रा का विवाद हुआ था। इसके बाद उन लोगों ने जान से मारने की धमकी दी थी। परिजनों ने उनके ऊपर ही हत्या करने और फिर शव को कुएं में फेंकने की आशंका जताई है। हालांकि अभी तक नरेंद्र मिश्रा की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। अफसरों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया और परिजनों को 10 हजार की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने पर जाम खत्म हुआ।

जाम लगाए जाने के बाद अफसरों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।
जाम लगाए जाने के बाद अफसरों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।
खबरें और भी हैं...