पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

छात्रों को सुविधा:14 साल बाद होटल मैनेजमेंट को मिली राष्ट्रीय मान्यता, इसी सत्र से शुरू होगी पढ़ाई

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विदेश के संस्थानों में छात्रों को मिलेगी मान्यता

गठन के 14 साल बाद स्टेट इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट (आईएचएम) को राष्ट्रीय होटल प्रबंध एवं कैटरिंग टेक्नोलॉजी परिषद (एनसीएचएमसीटी) से मान्यता मिल गई है। यह मान्यता शैक्षणिक सत्र 2020-21 से ही लागू हो जाएगी। इसके साथ ही अब आईएचएम से पढ़कर निकलने वाले छात्रों को देश- विदेश के विभिन्न संस्थानों में मान्यता मिले सकेगी। बता दें कि स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (आईएचएम) का गठन 2006 में किया गया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू के निर्देश पर आईएचएम को मान्यता दिलाने की पहल की।

इन पाठ्यक्रमों को संचालित करने की अनुमति
आईएचएम की प्रिंसिपल इफ्फत आरा ने बताया की एनसीएचएमसीटी ने आईएचएम को बीएससी, हॉस्पिटैलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन, डिप्लोमा इन फूड प्रॉडक्शन, डिप्लोमा इन फूड एंड बेवरेज सर्विस, डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग ऑपरेशन्स कोर्स संचालित करने की अनुमति दी है। स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, उपरवारा, नवा रायपुर को (एनसीएचएमसीटी) काउंसलिंग लिस्ट में शामिल किया गया है। इसके अतिरिक्त 12वीं उत्तीर्ण विद्यार्थियों को डिप्लोमा कोर्स हेतु सीधे प्रवेश की सुविधा भी उपलब्ध है। स्नातक पास करने के बाद जेईई में उत्तीर्ण छात्रों को हॉस्पिटैलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन में प्रवेश हेतु एनसी एचएम द्वारा सेंट्रलाइज्ड काउंसलिंग प्रारंभ कर दी गई है।आईएचएम में अक्टूबर के प्रथम सप्ताह से क्लासेस शुरू हो जाएंगी। संस्थान के संचालन के लिए गवर्निंग बॉडी का गठन हो चुका है।

प्रदेश व आसपास के युवाओं को होगा लाभ
"होटल एवं हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में मानव संसाधनों की कमी को पूरा करने के लिए रायपुर के आईएचएम को मान्यता मिलना महत्वपूर्ण उपलब्धि है। इससे छत्तीसगढ़ व आसपास के अन्य राज्यों के हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में रुचि रखने वाले छात्रों को लाभ होगा।"
- अन्बलगन पी., चेयरमैन, गवर्निंग बॉडी आईएचएम।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें