पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Houses Whose Land Was Torn, People Were Forced To Shift There, Put Up Posters Administration Responsible For The Accident

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चिरमिरी में धधकती कोयला खदान:जिन मकानों की जमीन फटी, लोग वहीं शिफ्ट होने को मजबूर, पोस्टर लगाया- हादसे पर प्रशासन जिम्मेदार

रायपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चिरमिरी में एक फरवरी को धंस गई थी जमीन, अभी भी निकल रहा धुआं

चिरमिरी के हल्दीबाड़ी महुआ खदान एरिया में एक फरवरी को जिन मकानों में दरार पड़ी, जमीन फटी और धुआं निकल रहा है, वहां फिर से वही परिवार रहने को मजबूर हैं। घटना के बाद करीब 20 परिवारों को पास के एक स्कूल में कैंप बनाकर रखा जा रहा था, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने उन्हें स्कूल खाली करने को कहा है।

ऐसे में अब तक रहने का कोई स्थायी ठिकाना नहीं मिलने से उसी खतरे वाले अपने पुराने मकानों में लौट आए हैं। इन प्रभावितों का कहना है कि एसईसीएल व जिला प्रशासन की तरफ से उनके घर-मुआवजा को लेकर अब तक कुछ नहीं किया गया है, ऐसे में वे परिवार-बच्चे-बुुजुर्ग को लेकर कहां जाएं, इसलिए वे पुराने मकानों में ही शिफ्ट हो गए हैं। इन परिवारों ने अपने दरवाजों पर पोस्टर लगा रखा है कि उनके लिए कोई आश्रय नहीं मिला है, इसलिए वे इसी क्षतिग्रस्त मकान में रहने को मजबूर हैं।

यहां किसी भी तरह की कोई दुर्घटना हुई तो इसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन व एसईसीएल की होगी। प्रभावितों में रामरति सेन के बेटे ने कहा कि स्कूल प्रबंधन व तहसीलदार ने कहा है कि यह जगह खाली करो, जबकि अब तक हमारे लिए कोई स्थायी मकान की व्यवस्था नहीं की गई है। ऐसे में 6 सदस्यीय परिवार को लेकर कहां जाएं, सामान लेकर दोबारा अपने उसी मकान में आ गए हैं, जहां एक फरवरी की रात जमीन फटी थी और दरारें आ गईं थी। उनकी तरह ही प्रभावित में रामप्रकाश केवट, छबील मानिकपुरी, नरगिस बानो, मुजफ्फर, संध्या बानी भी अपने परिवार के साथ पुराने मकानों में आ गईं। जो स्कूल में रह रहे हैं, वे भी अगले कुछ दिनों में कोई और ठिकाना न मिलने पर पुराने मकान में रहने आएंगे। प्रभावितों में शमीम खान ने बताया कि एसईसीएल, कलेक्टर व जनप्रतिनिधियों से जा-जाकर गुहार लगा चुके हैं कि रहने की कोई स्थायी व्यवस्था करा दीजिए, नहीं तो मुआवजा व जमीन दिला दें, जिससे वे अपना वहां मकान बनाकर परिवार के साथ रह सकें।

हम नहीं कर सकते व्यवस्था, प्रशासन जाने
"प्रभावितों को एसईसीएल अपने क्वार्टर नहीं दे सकता। हम मुआवजा व जमीन को लेकर कुछ नहीं कर सकते हैं, इस मामले में जिला प्रशासन ही जाने। पुराने खतरे वाली जगह में कैसे रह रहे हैं।
- घनश्याम सिंह, जीएम एसईसीएल चिरमिरी

एसईसीएल के क्वार्टर में शिफ्ट करेंगे
"जिला प्रशासन- एसईसीएल व विधायक के साथ हुई बैठक में तय हुआ था कि उनके लिए मकानों की व्यवस्था कराई जाएगी। पास में खाली पड़े कुछ क्वार्टर में शिफ्ट होने को कहा गया था। ऐसे में खाली कैसे करा रहे हैं।"
- एसएन राठौर, कलेक्टर कोरिया

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें