पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मनी लॉन्ड्रिंग केस:बर्खास्त IAS बाबूलाल अग्रवाल की 27.86 करोड़ रुपए की संपत्ति ED ने अटैच की; 9 नवंबर को किया था गिरफ्तार

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भ्रष्टाचार के मामले में पकड़े गए बर्खास्त IAS और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव बाबूलाल अग्रवाल की 27.86 करोड़ रुपए की संपत्ति को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अटैच कर दिया है। -फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
भ्रष्टाचार के मामले में पकड़े गए बर्खास्त IAS और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव बाबूलाल अग्रवाल की 27.86 करोड़ रुपए की संपत्ति को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अटैच कर दिया है। -फाइल फोटो।
  • सरकारी पद का दुरुपयोग और भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रहा है प्रवर्तन निदेशालय
  • खरौरा में ग्रामीणों के नाम से 400 फर्जी खाते खोलकर रकम ट्रांसफर कराने का आरोप

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव और बर्खास्त IAS बाबूलाल अग्रवाल की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शनिवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी 27.86 करोड़ रुपए की संपत्ति को अटैच कर दिया है। इसमें प्लांट, मशीनरी, बैंक में बची शेष राशि और पारिवारिक सदस्यों की अचल संपत्ति शामिल है। ED ने पूर्व IAS अग्रवाल को 9 नवंबर को गिरफ्तार किया था।

ED की ओर से बताया गया है कि छत्तीसगढ़ में ACB ने बाबूलाल अग्रवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था। इसी FIR के आधार पर ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जांच शुरू की। इसमें बाबूलाल अग्रवाल और उनके परिवार के सदस्यों की अकूत संपत्ति का खुलासा हुआ। इनकम टैक्स विभाग ने फरवरी 2010 में बाबूलाल अग्रवाल, उनके CA सुनील अग्रवाल व परिवार के सदस्यों पर छापे मारे।

ग्रामीणों के नाम से खुलवाए खातों में 3 साल में ट्रांसफर हुए 39 करोड़ रुपए
इसके बाद CBI के आरोप पत्र पर 3 और एफआईआर दर्ज की गई। मनी लॉन्ड्रिंग की जांच में पता चला कि बाबूल लाल ने अपने CA सुनील अग्रवाल, उनके भाई अशोक अग्रवाल और पवन अग्रवाल के साथ मिलकर खरोरा में ग्रामीणों के नाम से 400 से अधिक बैंक एकाउंट खुलवाए। इन खातों के साथ ही कई अन्य एकाउंट में रुपए जमा किए गए। साल 2006 से 2009 के बीच इन खातों में 39 करोड़ रुपए जमा किए गए।

तिहाड़ जेल गए तो सेवा से बर्खास्त कर दिया गया
इसके अलावा कई शैल कपंनियों के माध्यम से अवैध कमाई को खपाया था। साल 2017 में सीबीआई ने बाबूलाल अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया। उनपर चल रहे मामले को रफा-दफा कराने के लिए CBI अधिकारी को रिश्वत देने की कोशिश का भी आरोप था। गिरफ्तारी के बाद CBI बाबूलाल अग्रवाल को दिल्ली लेकर गई। वहां उन्हें तिहाड़ जेल में रखा गया। इस बीच सरकार ने उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें