पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छत्तीसगढ़ में तेल का खेल:डीजल के नाम पर बेच रहे थे मिथाइल इस्टर नाम का रसायन, खाद्य विभाग ने जब्त किया 25,964 लीटर संदिग्ध बायोडीजल

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इसी टैंक से बेचा जा रहा था संदिग्ध बायोडीजल। यह कारोबार मई 2020 से चल रहा था। खाद्य विभाग की नजर में यह अब आया है। - Dainik Bhaskar
इसी टैंक से बेचा जा रहा था संदिग्ध बायोडीजल। यह कारोबार मई 2020 से चल रहा था। खाद्य विभाग की नजर में यह अब आया है।
  • रायपुर के रावांभाठा के यशोदा बायोफ्यूल पर पड़ा छापा
  • फर्म संचालक ने इंदौर की कंपनी से मंगाने की बात कही

छत्तीसगढ़ में सरकार अभी चावल और गन्ने से बायोडीजल बनाने के लिए जूझ रही है। लेकिन बाजार में चोरी-छिपे तेल का खेल शुरू हो गया है। खाद्य विभाग ने रायपुर के रावाभांठा में यशोदा बायोफ्यूल नाम की एक फर्म पर छापा मारकर 25 हजार 964 लीटर संदिग्ध बायोडीजल जब्त किया है।

यह फर्म डीजल के नाम पर मिथाइल ईस्टर नाम का रसायन बेच रही थी। रायपुर के सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे ने बताया, इस फर्म को उद्योग विभाग ने डीजल बेचने के लिए पंजीयन पत्र दिया गया था। छापे के दौरान फर्म संचालक ने इंदौर की एक और फर्म कान्हा बिल्टकॉम से तरल पेट्रोलियम उत्पाद के रूप में मिथाइल इस्टर का बिल प्रस्तुत किया गया। वहां बात हुई तो उन्होंने इसे गुजरात की किसी फर्म से मंगाने की बात कही। उन्होंने संदेह जताया कि यह बायो-रसायन विदेश से मंगाया जा रहा है।

खाद्य अधिकारियों का कहना है कि बॉयो फ्यूल्स वनस्पति उत्पाद हैं। इनको विदेशों से आयात करने की अनुमति नहीं है। अधिकारियों ने बताया, मध्यप्रदेश की फर्म के द्वारा प्रेषित बिल में वे-ब्रिज बिल नहीं है। इससे उनके संदेह की पुष्टि हो रही है, बॉयो डीजल की आड़ में कुछ कंपनियां ऐसा उत्पाद बना रही हैं जो कि बॉयो डीजल नहीं है। इसकी डेन्सिटी डीजल के जैसी है, ऐसे में उसको धड़ल्ले से खपाया जा रहा है।

खाद्य विभाग अब रावाभांठा स्थित यशोदा बायोफ्यूल के संचालक हार्दिक पटेल को नोटिस जारी करने जा रही है। अधिकारियों ने बताया, संचालक से पूरी जानकारी और संबंधित दस्तावेज मांगे जाएंगे। उसी के आधार पर इस कारोबार के पूरे नेटवर्क का पता चलेगा। छापा मारने वाली टीम में रायपुर के सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे, अरविंद दुबे, मदन मोहन साहू, खाद्य निरीक्षक रीना साहू और मनीष यादव शामिल थे।

मई 2020 से कारोबार लेकिन आवक-जावक जनवरी के ही

सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे ने बताया, बायोफ्यूल बेचने का दावा करने वाली यह फर्म मई 2020 से कारोबार कर रही है। इसके बावजूद केवल जनवरी 2021 से आवक-जावक संबंधी जानकारी रखी गयी है। यह भी पूरे कारोबार को संदिग्ध बनाता है।

59 रुपए में खरीदकर 75 तक में बेचते थे

खाद्य अधिकारियों ने बताया, शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि यह फर्म कथित बायोडीजल को 59 रुपया प्रति लीटर की दर से खरीदती थी। फिर इसे 72 से 75 रुपए प्रति लीटर की दर से इसे बेचा जाता था। रायपुर में डीजल की कीमत 82 रुपया प्रति लीटर है। ऐसे में यह वाहन चालकाें को सस्ती पड़ रही थी। कारोबारी इसी का फायदा उठा रहा था।

पूरी तरह डीजल नहीं है बायोडीजल

सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे ने बताया, बायोडीजल नाम का उत्पाद पूरी तरह से डीजल नहीं है। मतलब केवल बायोडीजल से किसी गाड़ी का इंजन नहीं चलाया जाता। सरकार ने डीजल में 7 प्रतिशत बायोडीजल मिलाने की अनुमति दे रखी है। लेकिन इस मामले में इस अनुपात का पालन नहीं किया जा रहा था।

राजस्थान में भी पकड़ा जा चुका गिरोह

डीजल की जगह सस्ती दर पर बायोडीजल बेचने वाले गिरोहों को इस महीने राजस्थान में भी पकड़ा गया है। यहां पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने जोधपुर से ऐसा एक गिरोह पकड़ा है। जयपुर और अजमेर जिलों में भी ऐसी कार्रवाई हुई है। खाद्य अधिकारियों ने बताया, महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में भी ऐसी कार्रवाई हुई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें