• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Naxal Encounter In Chhattisgarh Dantewada Today Update; Rs 5 Lakh Rewarded Naxalite Killed Commander By DRG Jawan

दंतेवाड़ा में जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़:DRG जवानों ने मुठभेड़ में 5 लाख रुपए के इनामी नक्सली कमांडर को मार गिराया; बीजापुर में नक्सलियों ने दी बंद की चेतावनी

दंतेवाड़ा/बीजापुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 5 लाख रुपए के इनामी नक्सली को मार गिराया। मारा गया नक्सली मलंगिर एरिया कमेटी का सदस्य था। जवानों ने मौके से उसका शव बरामद कर लिया है। वहीं पिस्टल, IED विस्फोटक सहित अन्य सामान भी बरामद हुआ है। यह मुठभेड़ अरनपुर थाना क्षेत्र के नीलवाया के जंगलों में हुई है। फिलहाल जवानों के लौटने के बाद पूरी जानकारी सामने आ सकेगी।

घटना स्थल से जवानों ने 9 MM पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की IED, पिट्ठू, दवाइयां सहित अन्य सामान बरामद किया है।
घटना स्थल से जवानों ने 9 MM पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की IED, पिट्ठू, दवाइयां सहित अन्य सामान बरामद किया है।

जानकारी के मुताबिक, नीलवाया के जंगलों में नक्सली पिछले चार दिनों से उत्पात मचा रहे थे। बार-बार वहां सड़क काटने की घटनाएं सामने आ रही थीं। इसे देखते हुए DRG जवानों को रवाना किया गया था। सुबह करीब 6 बजे जंगल में पहुंचे जवानों पर अचानक नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। थोड़ी देर चली मुठभेड़ के बाद नक्सली जंगल में भाग निकले। इसके बाद जवानों ने सर्चिंग ऑपरेशन चलाया।

15 साल से संगठन में सक्रिय था मारा गया नक्सली कमांडर
जवानों ने मौके से मारे गए नक्सली का शव बरामद कर लिया है। उसकी पहचान मल्लापारा, नीलवाया निवासी कोसा के रूप में हुई है। कोसा पिछले 15 सालों से नक्सली संगठन में सक्रिय था। मलंगीर एरिया कमेटी में काम कर रहा था और नक्सलियों की इंटेलीजेंस कमेटी का इंचार्ज था। उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में 15 मामले दर्ज हैं। जवानों ने घटना स्थल से 9 MM पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की IED, पिट्ठू, दवाइयां बरामद की हैं।

बीजापुर में नक्सलियों ने बांधे बैनर, 26 को बंद की चेतावनी
वहीं दूसरी ओर से बीजापुर में नक्सलियों ने भैरमगढ़ बस्ती में बैनर, पोस्टर लगाकर 26 अप्रैल को भारत बंद की चेतावनी दी है। वहीं नक्सलियों ने पर्चे भी लगाए हैं। इसमें कहा है कि मोदी सरकार कृषि कानूनों को लाकर किसानों को ग़ुलाम बनाना चाहती है। नवजनववादी क्रांति से ही जनता को हर तरह की उत्पीड़न से मुक्ति मिलेगी। ऑनलाइन शिक्षा से छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। पोस्टर में दक्षिण सब जोनल ब्यूरो लिखा है।

खबरें और भी हैं...