धमतरी में बढ़ता लाल आतंकवाद:युवक को देर रात घर से अगवा कर ले गए नक्सली, सुबह मिला शव; पुलिस मुखबिरी के संदेह में की हत्या

धमतरी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धमतरी जिले में 5 माह के दौरान नक्सली पुलिस मुखबिरी के शक में 4 ग्रामीणों की हत्या कर चुके हैं। - Dainik Bhaskar
धमतरी जिले में 5 माह के दौरान नक्सली पुलिस मुखबिरी के शक में 4 ग्रामीणों की हत्या कर चुके हैं।

छत्तीसगढ़ में नक्सल आतंक अपना दायरा धीरे-धीरे बढ़ा रहा है। अभी तक बस्तर में ही सक्रिय माओवादी इस साल की शुरुआत से ही राजधानी रायपुर से महज 65 किलोमीटर दूर धमतरी में आतंक फैला रहे हैं। यहां नक्सलियों ने फिर एक युवक की हत्या कर दी। नक्सली युवक को उसके घर से अगवा कर ले गए थे। गुरुवार को उसका शव सड़क पर पड़ा मिला। बताया जा रहा है कि पुलिस मुखबिरी के शक पर नक्सलियों ने उसकी हत्या की है। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस दी। मामला खल्लारी थाना क्षेत्र का है।

ग्राम आमझर में बुधवार रात करीब 9 बजे 10 से 12 से वर्दीधारी नक्सली पहुंचे थे। वह युवक सीताराम नेताम को उसके घर से अगवा कर अपने साथ ले गए। इसके बाद उसकी हत्या कर दी। SP बीपी राजभानू ने ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि युवक को पीट-पीट कर नक्सलियों ने मारा है। हत्या के बाद शव को गांव के बाहर ही फेंक कर नक्सली भाग गए। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

5 माह में जिले में 4 ग्रामीणों की नक्सलियों ने की हत्या
धमतरी जिले में 5 माह के दौरान नक्सली पुलिस मुखबिरी के शक में 4 ग्रामीणों की हत्या कर चुके हैं। हर बार की तरह नक्सलियों का हत्या करने का तरीका एक ही है। घर से देर रात अगवा कर ले जाते हैं और फिर मारने के बाद गांव में शव फेंक देते हैं।

  • 10 मार्च : खल्लारी के ग्राम गादुलबहरा निवासी प्रह्लाद मरकाम अपने पिता की मौत की सूचना मिलने पर पहुंचा था। रात करीब 12 बजे नक्सली उसे अगवा कर साथ ले गए। इसके बाद उसकी हत्या कर दी।
  • 16 फरवरी : घोरागांव में तड़के 4 बजे नक्सली स्थानीय निवासी अमरदीप मरकाम को अगवा कर ले गए। इसके बाद अमरदीप का शव गांव में पड़ा मिला। इसी दिन नारायणपुर में भी नक्सलियों ने एक उपसरपंच को बाजार में गोली मार दी थी।
खबरें और भी हैं...