पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • 'Prince Of Planets' Mercury Will Run From Today, Reverse Speed, Business Will Increase, Corona Cases Will Decrease

ज्योतिषियों का दावा:‘ग्रहों के राजकुमार’ बुध आज से चलेंगे उल्टी चाल, कारोबार में तेजी, कोरोना के मामलों में आएगी कमी

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैसे तो वक्री होना अशुभ, लेकिन इस गोचर के परिणाम शुभ

सौरमंडल में प्रथम और हरा ग्रह कहे जाने वाले बुध को नवग्रहों में राजकुमार की उपाधि है। बुधवार से ये तुला राशि में वक्री हो जाएंगे। वैसे तो ग्रहों की उल्टी चाल काे शुभ नहीं माना जाता, लेकिन यहां बात दूसरी है। तुला राशि में वक्री होने के बाद बुध कई शुभ फल देंगे। खासतौर पर शिक्षा, स्वास्थ्य और व्यापार के क्षेत्र में। इससे शिक्षा को जहां बढ़ावा मिलेगा, वहीं कारोबार में भी तेजी आएगी। काेरोना के मामलों में कमी होने की बात भी ज्योतिष कह रहे हैं। ज्योतिषाचार्य डॉ. दत्तात्रेय होस्केरे के मुताबिक बुध एक तटस्थ ग्रह हैं, लेकिन विभिन्न ग्रहों की युति के कारण इसके फलों में भी परिवर्तन देखने को मिलते हैं। बुधदेव बुधवार सुबह 6.00 बजे तुला राशि में वक्री होंगे। बुध की इस उल्टी चाल का प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। 3 नवंबर तक यही स्थिति रहेगी। इस बीच ऐसे कई परिणाम सामने आ सकते हैं जो जनमानस पर अपना सकारात्मक प्रभाव छोड़ेंगे। अगर किसी जातक की कुंडली में बुध ग्रह अच्छे भाव में है तो वाणी, शिक्षा, शिक्षण, गणित और तर्क में उन्हें लाभ होगा।

क्यों बुध का वक्री होना साबित होगा फायदेमंद
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कोई भी ग्रह अपनी उल्टी चाल में उतने अच्छे फल नहीं देता जितने की वह सीधी चाल में देता है। किसी भी राशि में ग्रह का वक्री होना अच्छा नहीं माना जाता। हालांकि, कुंडली में स्थिति के अनुसार यह लाभप्रद भी होता है। ज्योतिषियों के मुताबिक वक्री होने का मतलब है कि अब बुध तुला राशि में उल्टी चाल चलेंगे। बुध शुभ ग्रहों के गुरु, शुक्र और बली चंद्रमा के साथ होता है तो फल भी शुभ देता है। यदि क्रूर ग्रहों जैसे मंगल, केतु, शनि, राहू और सूर्य की संगति में अशुभ फल देता है।

प्रभाव... सिर्फ शिक्षा-व्यापार नहीं, कला-वाणी पर भी
बुध शुभ होने पर व्यक्ति को शिक्षा और व्यापार में विशेष लाभ प्राप्त होता है। बुध का संबंध कला से भी है। बुध जब अशुभ होता है तो त्वचा संबंधी रोग देता है। वाणी को खराब करता है और व्यक्ति की तार्किक शक्ति को कमजोर बना देता है।

किस राशि पर कैसा असर पड़ेगा
मेष: अभी संभलकर चलने की जरूरत है। कोई भी मांगलिक कार्य बुध के मार्गी होने के बाद ही करें।
वृषभ: जिससे रिश्ते खराब हुए हैं उसे सुधारना चाहिए। पैसों के लेन-देन में भी सावधानी रखनी होगी।
मिथुन: यह परिवर्तन थोड़ा अच्छा समझा जा सकता है। अपने भविष्य के लिए प्लानिंग कर
सकते हैं।
कर्क: स्वास्थ्य का ध्यान रखने की जरूरत है। नौकरी में अधीनस्थ लोगों से तालमेल बनाकर चलें।
सिंह: पहले से अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। यात्रा से लाभ होने के भी योग बन रहे हैं।
कन्या: इस राशि के जातकों द्वारा फिलहाल लिए गए आर्थिक फैसले फलदायक साबित होंगे।
तुला: किसी बात की टेंशन न लें। मेहनत से सब मुमकिन है। अपने आप पर विश्वास रखना होगा।
वृश्चिक: समय थोड़ा कठिन हो सकता है, लेकिन यही मुश्किल वक्त आपका भाग्योदय भी लाएगा।
धनु: कार्यक्षेत्र में लाभ और नौकरी-व्यापार में फायदा होने की फिलहाल प्रबल संभावनाएं दिख रहीं हैं।
तुला: किसी बात की टेंशन न लें। मेहनत से सब मुमकिन है। अपने आप पर विश्वास रखना होगा।
वृश्चिक: समय थोड़ा कठिन हो सकता है, लेकिन यही मुश्किल वक्त आपका भाग्योदय भी लाएगा।
मकर: बुध का वक्री होना अच्छा साबित होगा। कई क्षेत्रों में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे।
कुंभ: बुध का वक्री होना इनके लिए भी अच्छा रहेगा। मेहनत से कार्य करें। उचित परिणाम मिलेंगे।
मीन: धन के मामले में थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है। बिना सोचे-समझे लेन-देन करना ठीक नहीं है।

खबरें और भी हैं...