पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • The First Festival In The Last Four Months In Which Less Than A Thousand Infected Were Found, Today Only 7791 People Are Sick

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उम्मीद का उत्तरायण:पिछले चार महीनों में पहला त्योहार जिसमें एक हजार से कम संक्रमित मिले, अब राज्य में 7791 एक्टिव केस

रायपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मकर संक्रांति पर प्रदेश की पवित्र नदियों में लोगों ने पूण्य स्नान कर ईश्वर से सुख-स्वास्थ्य की कामना की।
  • पिछली बार मकर संक्रांति पर महामारी की छाया भी नहीं थी
  • होली के बाद हर त्योहार बीता कोरोना प्रतिबंधों के साए में

बीते आठ महीनों से कोरोना महामारी से जुझ रहे प्रदेश में उम्मीदों का उत्तरायण हुआ है। पिछले चार महीनों में मकर संक्रांति पहला बड़ा त्योहार है, जिस दिन प्रदेश में संक्रमितों की संख्या एक हजार से कम है। बीते 24 घंटे में 671 नये मरीज मिले हैं। प्रदेश भर में आज कोरोना संक्रमितों की संख्या महज 7791 ही रह गई है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना का पहला मामला 18 मार्च को सामने आया। उसके 6 दिन बाद देश भर में लॉकडाउन लगा दिया गया था। तब से 2 लाख 91 हजार 484 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इस बीच त्योहारों पर कोरोना प्रतिबंधों, लॉकडाउन और संक्रमण के खतरों का असर दिखा है। कोरोना काल में पहला त्योहार चैत्र नवरात्रि थी। उस दिन तक प्रदेश मेंं कोरोना के केवल 9 मरीज थे।

रामनवमी को कोई नया मरीज नहीं मिला। 6 अप्रैल को महावीर जयंती पर भी कोई मरीज नहीं मिला था। आम्बेडकर जयंती के दिन 14 अप्रेल को 2 मरीज मिले। उसी दिन पहले लॉकडाउन की अवधि खत्म हुई थी। उसी के साथ लॉकडाउन-2 शुरू हो गया लेकिन कोरोना का संकट नहीं टला।

अप्रैल में ही बड़े शहरों और दूसरे प्रदेशों से मजदूरों का पलायन शुरू हुआ। छत्तीसगढ़ की सीमाओं प्रवासी मजदूरों का रेला इकट्‌ठा हो गया। इसमें छत्तीसगढ़ के अलावा ओडिशा, झारखंड और पश्चिम बंगाल के प्रवासी भी थे। 22-23 अप्रैल को 90 सरकारी बसों का काफिला राजस्थान के कोटा जाकर वहां से विद्यार्थियों को वापस ले आया। उसके बाद मजदूरों और पर्यटकों को वापस आने का सिलसिला शुरू हुआ। बसों और विशेष रेलगाड़ियों से उन्हें प्रदेश में वापस लाया गया। सामुदायिक आइसोलशन सेंटर में रखा गया। आवाजाही बढ़ी तो कोरोना ने भी पैर पसारे।

31 मई से अनलॉक-1 शुरू हुआ और कंटोनमेंट जोन छोड़कर शेष हिस्सों में जिंदगी पटरी पर आने लगी। सामुदायिक आयोजनाें पर प्रतिबंध अब भी जारी रहे। 24 मई को ईद मनाई गई। उस दिन कुल 38 मरीज सामने आए थे। 23 जून को रथयात्रा परंपरागत रूप से नहीं हो सकी। लेकिन उस दिन 83 नये मरीज सामने आए। 17 सितम्बर को पितृ माेक्ष अमावस्या के दिन रिकॉर्ड संख्या में मरीज मिलेे। उस एक दिन में 3 हजार 809 मरीज सामने आए थे।

वर्ष 2020 का दिसम्बर बीतते-बीतते संक्रमण की रफ्तार थमती दिख रही है। पिछले डेढ सप्ताह से संक्रमितों की संख्या एक हजार से कम है। अब कोरोना की वैक्सीन भी आ गई है। उम्मीद की जा रही उत्तरायण का सूरज लोगों को इस महामारी से मुक्त करेगा।

पिछले त्योहारों में ऐसी रही संक्रमितों की संख्या

त्यौहारतारीखसंक्रमितों की संख्या
राम नवमी2 अप्रेल00
भगवान महावीर जयंती6 अप्रेल00
आम्बेडकर जयंती14 अप्रेल02
ईद24 मई38
रथयात्रा23 जून83
हरेली20 जुलाई191
रक्षाबंधन03 अगस्त212
कृष्ण जन्माष्टमी12 अगस्त567
स्वतंत्रता दिवस15 अगस्त1015
पोला19 अगस्त752
तीजा21 अगस्त883
मुहर्रम30 अगस्त1346
महानवमी - 24 अक्टूबर – 201124 अक्टूबर2011
विजयादशमी25 अक्टूबर1368
दीपावली14 अक्टूबर716
गुरु घासीदास जयंती18 दिसम्बर1413
क्रिसमस – 25 दिसम्बर - 85325 दिसम्बर853

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser