पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • This Time The Corona Itself Is Holika, Wearing A Mask, And The Message Of The Devotee Prahlad Sitting On His Lap Two Yards Is Necessary.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रंग पर्व आज:इस बार कोरोना ही होलिका, मास्क पहनकर गोद में बैठे भक्त प्रह्लाद का संदेश- दो गज दूरी है जरूरी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्याम नगर में गजराज ध्रुव, देवराज यादव, लवली, राम यादव और गोपाल यादव ने जागरूकता का संदेश देती होलिका बनाई। - Dainik Bhaskar
श्याम नगर में गजराज ध्रुव, देवराज यादव, लवली, राम यादव और गोपाल यादव ने जागरूकता का संदेश देती होलिका बनाई।
  • होली खुशियों का त्योहार है, खूब खुशियां मनाइए लेकिन सावधानी के साथ...

इस होलिका दहन में भद्रा की जगह कोरोना महामारी ही सबसे बड़ी बाधा रही। प्रभाव इतना कि प्रतिमाओं तक में कोरोना की छाप दिखी। जगह-जगह कोरोना रूपी होलिका का दहन किया गया। इनमें भक्त प्रह्लाद को मास्क पहने दिखाया गया। साथ में यह संदेश भी दिया गया कि होली खुशियों का पर्व है, खूब खुशियां मनाइए लेकिन सावधानी के साथ। दो गज की दूरी, मास्क है बहुत जरूरी।

रविवार को शहर में 500 से ज्यादा जगहों पर होलिका दहन किया गया। ज्यादातर जगहों पर रात 8 से 11 बजे के बीच ही होलिका दहन कर लिया गया था। वहीं कुछ जगहों पर शाम होते ही होलिका जला दी गई, ताकि रात में भीड़ न जुटें और दहन की परंपरा भी बनी रहे। सोमवार को होली भी नियमों के साये में मनाई जाएगी।

आस्था की आग में अहंकार का दहन... भजनों के साथ फाग का राग
मान्यता के अनुसार, राजा हिरण्यकश्यपु को इतना अधिक अहंकार हो गया था कि वह भगवान विष्णु को भी कुछ नहीं मानता था। दूसरी ओर उसी का पुत्र प्रह्लाद श्री हरि का अनन्य भक्त हुआ। क्रोधित होकर हिरण्यकयश्पु ने उसे मरवाने के कई प्रयोजन किए। हर बार असफलता मिलने पर भाई की मदद करने बहन होलिका आई। उसे वरदान में मिला था कि वह एक कपड़ा ओढ़ ले तो आग में नहीं जलेगी।

वह प्रह्लाद को लेकर आग में बैठी, लेकिन श्रीहरि की कृपा से हवा का झोंका आया और कपड़ा उड़कर प्रह्लाद के शरीर में आ गया। होलिका वहीं जलकर भस्म हो गई। बाद में श्रीहरि ने नृसिंह अवतार लेकर हिरण्यकयश्पु का वध कर उसके अहंकार का नाश किया।

गौरतलब है कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रशासन ने शहर में धारा 144 लागू की है जिसके चलते होलिका दहन वाली जगहों पर कम भीड़ रही। होलिका दहन के बाद नगाड़ों की धुन और फाग गीत भी सुनने को नहीं मिले। दूसरी ओर मठ-मंदिरों में पूजा-पाठ और भजन-अनुष्ठान तो हुए लेकिन बगैर भक्तों को। सिर्फ पुजारी ही इसमें शामिल हुए।

मुख्यमंत्री बघेल, राज्यपाल उईके और स्पीकर महंत ने दी होली की बधाई
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राज्यपाल अनुसुईया उईके और विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी हैं। महंत ने कहा, होली रंगों व हंसी-खुशी का त्योहार है। प्यार भरे रंगों से सजा यह पर्व हर धर्म, संप्रदाय, जाति के बंधन खोलकर भाई-चारे का संदेश देता है। इस दिन सारे लोग अपने पुराने गिले-शिकवे भूल कर गले लगते हैं और एक दूजे को अबीर-गुलाल लगाकर बधाई देते हैं। यह भारत का एक प्रमुख और प्रसिद्ध त्योहार है, जो आज विश्वभर में मनाया जाने लगा है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, उत्सव में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वैश्विक महामारी तेजी से बढ़ रहा है।

पुरानी बस्ती... कंडे की होलिका, रात में महामाया की आग से दहन
पुरानी बस्ती स्थित ठाकुरपारा में सालों से कंडे की होलिका जलाई जा रही है। इस बार भी यहां इकोफ्रेंडली होलिका दहन किया गया। शहर जिला कांग्रेस के प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया कि रात को महामाया मंदिर से आग लाकर शुभ मुहूर्त में होलिका जलाई गई।

स्वर्णभूमि सोसाइटी में सुबह महिलाओं ने की पूजा
विधानसभा रोड स्थित स्वर्णभूमि रेसीडेंशियल सोसाइटी में सुबह महिलाओं ने होलिका की पूजा-अर्चना की। रात 8.30 बजे के मुहूर्त में यहां होलिका दहन किया गया। इस दौरान

ये होली इकोफ्रैंडली... ज्यादातर जगहों पर गोकाष्ठ की होलिका
बहुत से स्थानों पर पर्यावरण सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गो काष्ठ व कंडों का उपयोग किया गया। कई चौराहों पर सजावट कर होलिका और भक्त प्रहलाद की प्रतिमाएं रखी गई थीं। बाद में प्रहलाद की प्रतिमाएं हटाकर होलिका को जलाया गया। लोगों ने एक-दूसरे को गुलाल लगाकर पर्व की शुभकामनाएं दीं। हालांकि इस दौरान कम भीड़ ही रही। हौलिका दहन इकोफ्रैंडली इसलिए इस बार नगर निगम ने भी जोन के जरिए गोकास्ठ उपलब्ध कराया। सरकार और सामाजिक संगठनों की अपील का भी असर रहा कि इस बार लगभग सभी जगहों पर गोकास्ट की होलिका जलाई गई।

रंगों का बाजार इस बार कोरोना के चलते रह गया बेरंग
ग्राहकों की कम भीड़ के चलते इस बार रंगों से सजे शहर के बाजार बेरंग रहे। दरअसल, होली से ऐन पहले बढ़ते संक्रमण के चलते लगी पाबंदियों से बाजार पर बड़ा असर पड़ा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें