'यास' साधारण चक्रवात नहीं:​​​​​​​अंबिकापुर में हल्की बारिश शुरू, मैनपाट में छाया कोहरा; 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना; छुटि्टयां 4 दिन के लिए रद्द

अंबिकापुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में 'यास' के कारण शाम 4 बजे से मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। सुबह से बादल होने के बाद अब हल्की रिमझिम बारिश भी शुरू हो गई है। वहीं मैनपाट में बारिश के साथ कोहरा और धुंध छा गई है। जिले में 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। इससे जान-माल को नुकसान का भी अंदेशा जताया गया है।

मैनपाट में बारिश के साथ कोहरा और धुंध छा गई है।
मैनपाट में बारिश के साथ कोहरा और धुंध छा गई है।

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने सभी अफसरों और कर्मचारियों की छुटि्टयों को 4 दिन के लिए रद्द करने का निर्देश दिया है। जिले में कंट्रोल रूम स्थापित कर नंबर भी जारी कर दिए गए हैं। कलेक्टर झा ने कहा है कि यह साधारण चक्रवात नहीं है। इसको लेकर मौसम विभाग की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया है।

अंबिकापुर में 'यास' के कारण शाम 4 बजे से मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। सुबह से बादल होने के बाद अब हल्की रिमझिम बारिश भी शुरू हो गई है।
अंबिकापुर में 'यास' के कारण शाम 4 बजे से मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। सुबह से बादल होने के बाद अब हल्की रिमझिम बारिश भी शुरू हो गई है।

देर रात या अगले दिन सुबह से तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना
समुद्र से आ रही नम हवा के प्रभाव से सरगुजा संभाग में मंगलवार को पूरे दिन आसमान में बादल छाए रहे और हवा चलती रही। इससे नौतपा के पहले दिन ही मौसम ठंडा हो गया। शहर का अधिकतम तापमान 35 डिग्री दर्ज किया गया। इसमें ज्यादा बदलाव की भी संभावना नहीं है। तटीय क्षेत्र से तूफान के आगे बढ़ने पर सरगुजा संभाग में बुधवार रात या इसके अगले दिन इसके असर से तेज हवा के साथ बारिश की संभावना है।

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने सभी अफसरों और कर्मचारियों की छुटि्टयों को 4 दिन के लिए रद्द करने का निर्देश दिया है।
कलेक्टर संजीव कुमार झा ने सभी अफसरों और कर्मचारियों की छुटि्टयों को 4 दिन के लिए रद्द करने का निर्देश दिया है।

तेज हवाओं से गिर सकते हैं पेड़, पोल और कच्चे घर, अलर्ट रहें कर्मचारी
कलेक्टर झा ने कहा है कि मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी से उठने वाला चक्रवात 'यास' साधारण नहीं है। इसके 27 मई तक जिले में पहुंचने की संभावना है। इसके प्रभाव से आंधी-तूफान चलने से पेड़, कच्चे घर, छप्पर, बिजली के पोल्र टूट कर गिर सकते हैं। विद्युत और पेयजल आपूर्ति बाधित हो सकती है। इसे प्राथमिकता से बहाल करना होगा। आपदा राहत से जुड़े विभाग 26 से 29 मई तक विशेष रूप से सतर्क रहें।

जिला स्तरीय कंट्रोल रूम का फोन नंबर जारी
प्रशासन की ओर से संयुक्त जिला कार्यालय भवन के कमरा नंबर 2 में जिला स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। इसके नंबर 07774222414 और 07774222722 भी जारी कर दिए गए हैं, जो 24 घंटे सक्रिय रहेंगे। चक्रवात से प्रभावित कोई भी अपनी समस्या या सूचना इस नंबर पर बता सकते हैं। वहीं ब्लाक स्तर पर भी कंट्रोल रूम बनाने और 2-2 कंप्यूटर ऑपरेटर सहित अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

शहर के 5 इलाकों में बारिश से हो सकता है जलभराव, नंबर जारी

वार्डअधिकारी का नाममोबाइल नंबर
वार्ड 47 गंगापुर नालाजोगेंद्र सिंह8871662042
वार्ड 20 केना बांधकैलाश जायसवाल9179504935
वार्ड 6 खालपारासुशील सिंह8120195079
वार्ड 13 झंझटपारासुमित सिन्हा9826394025
वार्ड 23 महादेव गलीअनिल सोनी76975 21215

ग्रामीण क्षेत्र में शिकायतों के लिए जारी किए हेल्प लाइन नंबर

सेंटर का नाममोबाइल नंबर
दरिमा हेल्प सेंटर9826849470
साडबार6262047385
भिट्ठीकला6262047384
बतौली हेल्प सेंटर6269753153
महेशपुर62697533148
सीतापुर6269753142
मैनपाट8839152665
पेटला6262047271
लखनपुर6269753145
कुन्नी6269753149
उदयपुर6269753154
डाडगांव6269753139
खबरें और भी हैं...